आशा कार्यकर्ताओं को नए साल का तोहफा- मासिक वेतन भत्ता बढ़ा, जनवरी में बढ़कर मिलेगी सैलरी!

सभी आशा कार्यकर्ताओं और मिड-डे मिल कर्मियों को अब 1 जनवरी, 2022 से बढ़ा हुआ निश्चित भत्ता मिलेगा और 10 महीने के बजाय यह लाभ अब 12 महीने के लिए मिलेगा।

PENSION

चंड़ीगढ, डेस्क रिपोर्ट। आगामी चुनाव 2022 से पहले पंजाब की चन्नी सरकार ने आशा कार्यकर्ताओं ( Punjab Asha workers) को नए साल 2022 का तोहफा दिया है। पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी (Punjab CM Charanjit Singh Channi)ने ​22,000 आशा कार्यकर्ताओं को ₹2500 प्रति महीना वेतन भत्ता देने का ऐलान किया है। इसके साथ ही सरकार ने 5 लाख तक का हेल्थ इंश्योरेंस देने की घोषणा की है। इसके पहले आशा वर्करों को केवल कमीशन मिलता था, जबकि मिड-डे-मील कर्मियों को 2200 रुपये महीना दिया जाता है।

यह भी पढ़े.. MP Corona: मप्र में बेकाबू कोरोना, आज 77 नए केस, इन जिलों में स्थिति गंभीर, सीएम का बड़ा बयान

इसके साथ ही सीएम ने राज्य के 19,300 सरकारी स्कूलों (Government School) में कार्यरत 42,205 मिड-डे मील वर्कर्स को महज 2,200 रुपये प्रति माह मिलता है। इसे बढ़ाकर 3,000 रुपये प्रति माह कर दिया गया है। दोनों को ये लाभ पूरे साल मिलेंगे। अब तक उन्हें साल में 10 महीने के लिए भुगतान किया जाता था। वे अन्य नियमित सरकारी कर्मचारियों के समान मातृत्व अवकाश के भी हकदार होंगे।

यह भी पढ़े.. किसान सम्मान निधि: 1 जनवरी को PM देंगे किसानों को सौगात, खातों में ट्रांसफर होंगे 20000 करोड़

खास बात ये है कि सभी आशा कार्यकर्ताओं और मिड-डे मिल कर्मियों को अब 1 जनवरी, 2022 से बढ़ा हुआ निश्चित भत्ता मिलेगा और 10 महीने के बजाय यह लाभ अब 12 महीने के लिए मिलेगा। कुल मिलाकर सीएम ने आशा और मध्याह्न् भोजन (Mid-Day Meal) कर्मियों को नए साल के तोहफे के रूप में 124.25 करोड़ रुपये का बोनस देने का ऐलान किया।इन घोषणाओं को 2002 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पंजाब सरकार (Punjab Government) का मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है।