भारत लाया जाएगा भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी, ब्रिटिश सरकार ने दी मंजूरी

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) के प्रत्यर्पण (Extradition) को लेकर ब्रिटेन ने मंजूरी दे दी है। अब जल्द ही नीरव मोदी को भारत लाया जाएगा। उसपर 12 हजार करोड़ रूपये से अधिक की आर्थिक धोखाधड़ी कर भारत से फरार होने का आरोप है।

ये भी देखिये – मध्य प्रदेश: कोरोना संकटकाल में 1 लाख जीतने का सुनहरा मौका, यह देखें पूरी डिटेल्स

ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने 25 फरवरी को भगोड़े नीरव मोदी की प्रत्यर्पण की याचिका मंजूर कर ली थी और उसे स्वीकृति के लिए गृह विभाग को भेज दिया था। अब उसपर ब्रिटेन के गृह विभाग की भी मुहर लग गई है और नीरव मोदी को भारत लाने का रास्ता साफ हो गया है। ब्रिटेन के गृहमंत्री ने शुक्रवार को मनी लॉन्ड्रिंग और फर्जीवाड़े के आरोपी को भारत प्रत्यर्पण की अनुमति दे दी। हालांकि अभी नीरव मोदी के पास इसे कानूनी चुनौती देने का एक आखिरी मौका है।   फिलहाल नीरव मोदी करीब डेढ़ साल से लंदन की एक जेल में बंद है। ये मामला उनकी तीन कंपनियों, कंपनी अधिकारियों और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के अधिकारियों की मिलीभगत से की गई आर्थिक अनियमितताओं और बैंक धोखाधड़ी का है।

मशहूर फोर्ब्स मैगजीन के अनुसार नीरव मोदी के पास साल 2017 में 11,700 करोड़ी की संपत्ति थी। भारत लाने जाने पर उसे मुंबई की आर्थल रोड जेल में रखा जाएगा। पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर करीब 2 अरब डॉलर की धोखाधड़ी मामले में सीबीआई और ईडी ने नीरव मोदी और अन्य आरोपियों पर मामला दर्ज किया है।