अब वरुण गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखा पत्र, किसानों को लेकर की ये बड़ी मांग

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री पर तत्काल कार्रवाई की मांग भी की।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। किसानों के मुद्दे पर अपनी ही सरकार पर कई बार सवाल खड़े करने वाले सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने कृष्ण कानून वापसी की घोषणा का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को धन्यवाद दिया है।  उन्होंने ट्वीट कर लिखा – तीन कृषि कानूनों  को वापस (Agricultural law back) लेने की घोषणा का मैं स्वागत करता हूँ। मेरा विनम्र निवेदन है कि एमएसपी पर कानून बनाने की मांग व अन्य मुद्दों पर भी अब तत्काल निर्णय होना चाहिए, जिससे किसान भाई आंदोलन समाप्त कर ससम्मान घर लौट जाएं। वरुण गांधी ने एक विस्तृत पत्र भी लिखा है जिसमें लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री पर तत्काल कार्रवाई की मांग की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल शुक्रवार को राष्ट्रके नाम सन्देश में तीनों कृषि कानूनों को समाप्त करने का एलान किया जिसकी पूरे देश में अलग अलग प्रतिक्रिया हुई। विपक्षी दलों ने इसे अपने तरीके से प्रचारित किया और  उनकी सरकार पर हमले किये। एक साल से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसानों ने जश्न मनाया मिठाई बांटी लेकिन उनके नेता राकेश टिकैत ने साफ कह दिया कि जब तक संसद से कानून वपस नहीं होता और MSP पर कानून नहीं आ जाता तब तक धरना आंदोलन समाप्त नहीं होगा।

ये भी पढ़ें – Modi Cabinet: प्रियंका गांधी ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, की यह बड़ी मांग

टिकैत के बयान के बाद कांग्रेस भी समर्थन करने लगी कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री मोदी से MSP पर  कानून की मांग की।  प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कृषि कानून वापस लेने के लिए धन्यवाद दिया लेकिन तंज भी कसा। प्रियंका ने प्रधानमंत्री से लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त करने की मांग की है।

ये भी पढ़ें – इंदौर एक बार फिर बना नंबर 1, स्वच्छता में लगातार पांचवी बार मारी बाजी

उधर प्रियंका गांधी के भाई और भाजपा सांसद वरुण गांधी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। वरुण गांधी ने पत्र में लिखा – आपने बड़ा दिल दिखाते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की।  मैं तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा का मैं स्वागत करता हूँ। मेरा विनम्र निवेदन है कि एमएसपी पर कानून बनाने की मांग व अन्य मुद्दों पर भी अब तत्काल निर्णय होना चाहिए, जिससे किसान भाई आंदोलन समाप्त कर ससम्मान घर लौट जाएं।

ये भी पढ़ें – MP Weather: एक साथ 5 सिस्टम एक्टिव, 19 जिलों में बारिश के आसार, जानें अपने शहर का हाल

वरुण ने लिखा कि मेरा मानना है कि यदि ये फैसला पहले ही ले लिया जाता तो इतनी जनहानि नहीं होती। मेरा आपसे निवेदन है कि आंदोलन में शहीद हुए किसान भाइयों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए इनके परिजनों को एक एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया जाये। साथ ही किसान भाइयों पर दर्ज एफआईआर भी वापस ली जाएँ।

सांसद वरुण गांधी ने पत्र में आगे लिखते हुए लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री पर अजय मिश्रा टेनी पर भी कार्रवाई करने की मांग की है।