EXIT POLL से उत्साह, 5 राज्यों के नतीजों से पहले 10 दिसंबर को ‘शक्ति प्रदर्शन’ करेगा विपक्ष

opposition-mega-show-strength-congress-parliament-winter-session-exit-polls-election

नई दिल्ली।

पांच राज्यों के एक्जिट पोल से जहां भाजपा को करारा झटका लगा है, वही कांग्रेस में खुशी की लहर दौड़ गई है। नतीजों से पहले इस सर्वे ने कांग्रेस को जीत के लिए आश्वस्त कर दिया है। अब 11 दिसंबर को नतीजे भले ही कुछ और हो, लेकिन इसके पहले विपक्षी दलों को इसके बहाने ताकतवर बीजेपी के खिलाफ एकजुट होने का मौका मिल गया है और वे परिणाम आने से पहले दिल्ली में शक्ति प्रदर्शन करने जा रहे हैं।वहीं 11 दिसंबर से संसद का शीतकालीन सत्र भी शुरू हो रहा है। माना जा रहा है कि विपक्षी दल संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार पर हमलावर हो सकते हैं।

दरअसल, पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के परिणाम आने से ठीक एक दिन पहले विपक्षी दल एकजुटता दिखाने के लिए दिल्ली में शक्ति प्रदर्शन का मेगा शो करने जा रहे हैं। वहीं 11 दिसंबर से संसद का शीतकालीन सत्र भी शुरू हो रहा है। इस सत्र के शुरू होने से पहले कांग्रेस विपक्षी दलों के नेताओं के साथ अहम बैठक करने वाली है। खास बात तो ये है कि इस बैठक में तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन भी शामिल होंगें।  वही विपक्षी दलों की इस बैठक में तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) को भी शामिल होने का न्योता दिया गया है।बैठक में 19 दलों के नेताओं के भाग लेने की संभावना जताई जा रही है। पोल के अनुसार, लोकसभा चुनाव से पूर्व सेमीफाइनल माने जा रहे पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में बाजी कांग्रेस के हाथ में जाती दिख रही है। वही भाजपा की अगुवाई वाले एनडीए को अपना कुनबा बचाना मुश्किल होता दिखाई दे रहा है।

क्या कहता है एक्जिट पोल

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ एग्जिट पोल बता रहें हैं कि राज्य में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच कांटे की टक्कर है। छत्तीसगढ़ में पांच में से तीन एग्जिट पोल में रमन सिंह पिछड़ते दिख रहे हैं। मध्य प्रदेश में 15 सालों से कांग्रेस का वनवास अब खत्म होने की उम्मीद दिखाई दे रही है। वहीं राजस्थान में भी कांग्रेस, बीजेपी से कहीं बहुत आगे निकलती दिखाई दे रही है। सीएम वसुंधरा राजे के नेतृत्व में भाजपा को राज्य में करारी हार मिलने जा रही है। उधर तेलंगाना में टीआरएस की ही सत्ता बरकरार रहने की उम्मीद नजर आ रही है। ओवैसी की एआईएमआईएम ने केसीआर को समर्थन का एलान कर ही रखा है। ऐसे में एग्जिट पोल के नतीजे सही निकलते हैं तो केसीआर को दोबारा मुख्यमंत्री बनने में दिक्कत नहीं होगी। मिजोरम के एग्जिट पोल इशारा कर रहे हैं कि उत्तर-पूर्व में कांग्रेस का आखिरी किला ढह जाएगा। तीन एग्जिट पोल त्रिशंकु विधानसभा की राह पर चलते दिख रहे हैं।