पद्म विभूषण, भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल का 91 की उम्र में कोरोना से निधन

लगभग 70 वर्ष तक कानून(law) के क्षेत्र से जुड़े रहे सोली सोराबजी ने दो बार भारत के अटॉर्नी जनरल के रूप में कार्यभार संभाला।

पूर्व अटॉर्नी जनरल

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल (former attorney general) सोली सोराबजी (soli sorabjee) का शुक्रवार की रात कोरोना (corona) से देहांत हो गया। लगभग 70 वर्ष तक कानून(law) के क्षेत्र से जुड़े रहे सोली सोराबजी ने दो बार भारत के अटॉर्नी जनरल के रूप में कार्यभार संभाला। वकील (lawyer) के तौर पर कानून क्षेत्र में योगदान हेतु उन्हें 2002 में पद्म विभूषण (padm vibhushan) सम्मान से नवाज़ा भी गया था। बीते कुछ दिनों से वे कोरोना संक्रमण से पीड़ित थे जिसके बाद शुक्रवार की रात 91 वर्ष की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।

यह भी पढ़ें… इस जिले के कलेक्टर और सीएमएचओ कोरोना पॉजिटिव, अधिकारी-कर्मचारियों में हड़कंप

पूर्व अटॉर्नी जनरल सोली सोराबजी के निधन पर बड़े-बड़े दिग्गजों ने शोक जताया है। इसमें केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ अन्य राजनीतिक हस्तियों के नाम शामिल है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोली सोराबजी के निधन पर ट्विटर के जरिए शोक जताया, उन्होंने लिखा कि मुझे ये सुनकर बहुत दुख हो रहा है कि पूर्व अटॉर्नी जनरल श्री सोली सोराबजी अब हमारे बीच नहीं हैं। उनकी कानूनी कुशाग्रता से सभी परिचित है और वो प्रतिष्ठित है। उनकी स्पष्टता में चालाकी थी लेकिन वे हमेशा विनम्र रहते थे। वो एक महान व्यक्ति थे।

यह भी पढ़ें… पीपीई किट पहनकर मरीजों को देखने पहुंचे कोरोना प्रभारी मंत्री हुए भावुक, करुण स्वर में कही ये बात

आपको बता दें कि पूर्व अटॉर्नी जनरल सोली सोराबजी ने 1989 से 1990 तक ये ज़िम्मेदारी निभाने के बाद पुनः 1998 से 2004 तक इस पद पर कार्यभार संभाला था। उनका जन्म मुम्बई में सन 1930 में हुआ था। सन 1953 में सोराबजी ने बॉम्बे हाईकोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की थी। उनका पूरा नाम सोली जहांगीर सोराबजी था।