शीतकालीन सत्र से पहले आज सर्वदलीय बैठक, पीएम मोदी होंगे शामिल, इस मुद्दे पर विपक्ष से होगी बात

संसद का यह शीतकालीन सत्र काफी महत्वपूर्ण होने वाला है। इस सत्र में केंद्र सरकार कृषि कानूनों के वापसी के लिए विधेयक पेश करेगी। सत्र 29 नवंबर सोमवार से शुरु होगा।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। संसद का शीतकालीन सत्र सोमवार 29 नवंबर से शुरु होने जा रही है। संसद सत्र शुरू होने से पहले सरकार की ओर से आज रविवार सुबह 11.30 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हिस्सा लेंगे। बैठक में केंद्र सरकार विपक्षी दलों के साथ सत्र में होने वाले महत्वपूर्ण कामकाजों और अपने एजेंडे पर चर्चा करेगी।

ये भी देखें- Sahara India पर 2 और धोखाधड़ी के मामले दर्ज, मालिक सहित अधिकारियो पर शिकंजा

वहीं शीतकालीन सत्र से पहले उपराष्ट्रपति और राज्‍यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने रविवार शाम सदन में विभ‍न्न राजनीतिक दलों के नेताओं की बैठक बुलाई है। बैठक के दौरान वे इस संसद सत्र के दौरान राज्‍यसभा में सुचारू काम-काज सुनिश्‍चित करने के तरीकों पर चर्चा करेंगे। संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवम्‍बर से 23 दिसम्‍बर तक चलेगा।

इस बार संसद का शीतकालीन सत्र काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि सरकार इस सत्र में विवादित तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए एक विधेयक पेश करेगी। इस विधेयक पर पक्ष और विपक्ष में जमकर तकरार देखने को मिल सकती है। विपक्ष जहां इस कानून को वापस लेने के मामले पर सरकार को घेरने की कोशिश में जुटी हुई है तो वहीं सरकार ने भी विपक्ष को जवाब देने के लिये कमर कस ली है। इसके अलावा संसद के इस सत्र में क्रिप्टोकरेंसी पर बात हो सकती है तो वहीं विपक्ष पेगासस स्पाईवेयर से फोन टैपिंग के मुद्दे को भी उठा सकता है।

कांग्रेस ने जारी किया है व्हिप

कांग्रेस ने भी सोमवार को सांसदों की उपस्थिति के लिए तीन लाइन व्हिप जारी किया है। कांग्रेस ने शीतकालीन सत्र के दौरान विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी दलों के बीच एकजुटता और समन्वय बढ़ाने के प्रयास के तहत 29 नवंबर को कई विपक्षी पार्टियों के नेताओं की बैठक बुलाई है।