PM Kisan: किसानों को जल्द मिलेगी गुड न्यूज, इस महिने में आएगी 14वीं किस्त! E-KYC अनिवार्य, जानें कब खाते में आएंगे 2000-2000

Pooja Khodani
Published on -
PM Kisan Samman Nidhi

PM Kisan 14th Installment : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना केन्द्र सरकार की एक बड़ी योजना है। इसके तहत किसानों को सालाना 6000 रुपये दिए जाते हैं। यह राशि हर 4 महीने में 2000-2000 रुपये की 3 किस्तों में दी जाती है। अब तक केन्द्र सरकार द्वारा 13 किस्तें भेजी जा चुकी है और अब किसानों को 14वीं किस्त का इंतजार है।संभावना जताई जा रही है कि अप्रैल से जून के बीच 14वीं किस्त को कभी भी जारी किया जा सकता है,हालांकि फाइनल डेट को लेकर अधिकारिक पुष्टि होना बाकी है।

योजना के तहत, पहली किस्त 1 अप्रैल से 31 जुलाई के बीच, दूसरी 1 अगस्त से 30 नवंबर और तीसरी 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच आती है, ऐसे में संभावना है कि मई-जून तक 14वीं किस्त किसानों के खाते में भेजी जा सकती है।इससे पहले पिछली किस्त 26 फरवरी को जारी हुई थी, जिसमें 8 करोड़ किसानों के खाते में 2000-2000 भेजे गए थे। वही अगली किस्त का लाभ लेने के लिए किसान जल्द ई-केवाईसी करवा लें अन्यथा 13वीं किस्त की तरह 14वीं किस्त भी अटक सकती है।

14वीं किस्त से पहले अपडेट करें ये डिटेल्स

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की किस्तें पाने के लिए किसानों को तीन बातों का ध्यान रखना है-पहला ई-केवाईसी, दूसरा आधार सीडिंग और तीसरा लैंड सीडिंग । यदि ये तीनों काम पूरे हुए हैं तब ही किसान के खाते में सम्मान निधि का पैसा मिलेगा। ई-केवाईसी कराने के लिए किसान अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र में संपर्क कर सकते हैं। वहीं आधार सीडिंग के अपने बैंक की शाखा या पोस्ट ऑफिस में जाना होगा। इसके अलावा लैंड सीडिंग के लिए अपने जिले के कृषि विभाग के कार्यालय में संबंधित अधिकारी से सलाह ले सकते हैं।

ये लोग नहीं ले पाएंगे 14वीं किस्त का लाभ

  1. पीएम किसान योजना के नियमों के मुताबिक, खुद की 2 हेक्टेयर या उससे कम जमीन पर खेती करने वाले किसान ही सम्मान निधि की किस्तों के असली हकदार है।
  2. संस्थागत भूमि धारक किसान सम्मान निधि की किस्तों का लाभ नहीं ले सकते।
  3. संवैधानिक पदों पर कार्यरत, पूर्व या वर्तमान मंत्री/ राज्य मंती, लोक सभा/ राज्यसभा/ राज्य विधानसभा सदस्य, राज्य विधान परिषदों के पूर्व/वर्तमान सदस्य, नगर निगमों के पूर्व और वर्तमान महापौर भी नहीं।
  4. जिला पंचायतों के पूर्व और वर्तमान अध्यक्ष भी सम्मान निधि के हकदार नहीं हैं।
  5. केंद्रीय और राज्य सरकार के मंत्रालयों/ कार्यालयों/ विभागों और संबंधित यूनिट्स में सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी भी लिस्ट से बाहर हैं।
  6. 10,000 रुपये या इससे अधिक मासिक पेंशन लेने वाले लोग भी सम्मान निधि का लाभ नहीं ले सकते।
  7. डॉक्टर्स, इंजीनियर्स, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट और आर्किटेक्ट जैसे पेशेवर भी पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी नहीं माने जाएंगे।

घर बैठे ऐसे करें ई-केवाईसी

  1. पीएम किसान योजना की ऑफिशियल वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं।
  2. वेबसाइट की दाईं तरफ e-KYC के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  3. अब आपको आधार नंबर दर्ज करें।
  4. इसके बाद में आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP आएगा, उसे एंटर करें।
  5. इसके बाद ‘Submit’ पर क्लिक करें, अब आपकी e-KYC पूरा हो जाएगा।

आपको 14वीं किस्त का पैसा मिलेगा या नहीं, ऐसे करें चेक

  1. सबसे पहले पीएम किसान पोर्टल pmkisan.gov.in पर जाएं।यहां आपको ‘बेनिफिशियरी स्टेटस’ वाला ऑप्शन दिखेगा, जिस पर आपको क्लिक करना है
  2. फिर आपको अपना योजना का रजिस्ट्रेशन नंबर या फिर अपना 10 अंकों का मोबाइल नंबर दर्ज करना है।
    फिर आप देखेंगे, तो आपको स्क्रीन पर कैप्चा कोड नजर आएगा।
  3. इस कैप्चा कोड को भरें और फिर सबमिट पर क्लिक करें।
  4. इसके बाद आप देखेंगे कि आपके सामने आपका स्टेटस आ गया है
  5. यहां आपको स्टेटस के सामने ई-केवाईसी, पात्रता और लैंड सिडिंग के आगे लिखे हुए मैसेज को देखना है।
    ई-केवाईसी, पात्रता और लैंड सिडिंग यानी इन तीनों के आगे अगर ‘यस’ लिखा है, तो आपको किस्त का लाभ मिल सकता है।
  6. अगर इन तीनों के आगे या फिर किसी एक के भी आगे ‘नो’ लिखा है, तो आप किस्त के लाभ से वंचित रह सकते हैं।

About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News