रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद भावुक हुए पीएम मोदी ने मांगी माफ़ी, बोले कुछ तो हमारे पुरुषार्थ में कमी रह गई होगी जो सदियां लग गई

Atul Saxena
Updated on -
PM Modi Ram Mandir Ayodhya

Ram Mandir Ayodhya Ramlala Pran Pratistha : 500 साल की लम्बी प्रतीक्षा के बाद अब रामलला टेंट में नहीं अपने नए घर भव्य राम मंदिर में विराजमान हो गए हैं, आज 22 जनवरी 2024 को वैदिक मंत्रोच्चार के बीच रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की गई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गर्भ गृह में विशेष पूजा अर्चना की , उनके साथ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघ चालक डॉ मोहन भागवत , उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी गर्भ गृह में थे, विशेष पूजा के बाद पीएम मोदी मंच पर पहुंचे और वहां उन्होंने अपने 11 दिन के उपवास को तोड़ा, स्वामी गोविन्द दास महाराज ने पीएम मोदी के उपवास को जल देकर मंत्रोच्चार के साथ खुलवाया।

मोदी भावुक, बोले सदियों की प्रतीक्षा के बाद आज हमारे राम आ गए 

प्राण प्रतिष्ठा समारोह में देश की बड़ी बड़ी हस्तियाँ भी पहुंची थी, लाखों लोगों की उपस्थिति का पीएम मोदी ने अभिवादन किया उन्होंने अपनी बात की शुरुआत सियावर राम चन्द्र की जय बोलकर की, बोलते समय पीएम मोदी भावुक दिखे, उन्होंने कहा कि मैं सभी राम भक्तों को प्रणाम करता हूँ, राम राम करता हूँ, आज हमारे राम आ गए हैं, सदियों की प्रतीक्षा के बाद राम आ गए हैं, सदियों के अभूतपूर्व धैर्य, अनगिनत बलिदान, त्याग और तपस्या के बाद हमारे प्रभु श्री राम आ गए हैं।

मेरे पास कितना कुछ कहने को है लेकिन कंठ अवरुद्ध हैं, मेरा शरीर अभी भी स्पंदित है: मोदी 

प्रधानमंत्री ने उपस्थित जनसमूह और देशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि मैं इस शुभ घड़ी को आप सभी को बहुत बहुत बधाई देता हूँ, उन्होंने कहा कि मैं अभी गर्भ गृह में ईश्वरीय चेतना का साक्षी बनकर आपके सामने आया हूँ, मेरे पास कितना कुछ कहने को है लेकिन कंठ अवरुद्ध हैं, मेरा शरीर अभी भी स्पंदित है, चित्त अभी भी उस पल में लीन है, हमारे रामलला अब टेंट में नहीं रहेंगे, हमारे रामलला दिव्य मंदिर में रहेंगे, पीएम ने कहा कि मेरा पक्का विश्वास है, अपार श्रद्धा है, जो घटित हुआ है उसकी अनुभूति देश के, विश्व के कोने कोने में राम भक्तों को हो रही होगी, ये क्षण अलौकिक है ये पल पवित्रतम है ये माहौल,  ये वातावरण, ये ऊर्जा, ये घडी सब अद्भुत है, क्योंकि प्रभु श्री राम का हम अब पर आशीर्वाद है।

मोदी बोले – 22 जनवरी 2024 सिर्फ तारीख नहीं रही ये नए काल चक्र का उद्गम हैं 

पीएम मोदी ने कहा कि 22 जनवरी 2024 का ये सूरज एक अद्भुत आभा लेकर आया है, ये कैलेण्डर पर लिखी एक तारीख नहीं है ये एक नए काल चक्र का उद्गम है,  उन्होंने कहा कि राम  मंदिर के भूमि पूजन के बाद से प्रतिदिन पूरे देश में उत्साह और उमंग बढ़ता ही जा रहा था, निर्माण कार्य देख देशवासियों में हर दिन एक नया विश्वास पैदा हो रहा था, आज हमें सदियों के उस धैर्य की धरोहर मिली है आज हमें राम का मंदिर मिला है।

ये काल चक्र सर्वकालिक स्याही से अंकित हो रही अमिट स्मृति रेखाएं हैं 

मोदी ने कहा कि ये राम की ही कृपा है कि हम सब इस पल को जी रहे हैं, इसे साक्षात् घटित होते देख रहे हैं, आज दिन, दिशाएं, दिग, दिगंत, सब दिव्यता से परिपूर्ण है ये समय सामान्य समय नहीं है ये काल चक्र सर्वकालिक स्याही से अंकित हो रही अमिट स्मृति रेखाएं है, प्रधानमंत्री में मंच से ही हनुमान गढ़ी को प्रणाम किया, माता जानकी, लक्ष्मण, भरत, शतुघ्न, अयोध्यापुरी,  सरयू को प्रणाम किया ।

मुझे विश्वास है कि प्रभु राम आज हमें अवश्य क्षमा करेंगे : पीएम मोदी 

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं दैवीय अनुभव कर रहा हूँ,  वे दिव्य आत्माएं वे दैवीय विभूतियाँ भी हमारे आस पास हैं जिन्होंने इस मंदिर के लिए अपने प्राणों की आहुति दी, मैं उन्हें नमन करता हूँ , प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं आज प्रभु श्री राम से क्षमा याचना भी करता हूँ कि हमारे पुरुषार्थ में हमारे त्याग, तपस्या में कुछ तो कमी रह गई होगी कि हम इतने सदियों तक ये कार्य कर नहीं पाए लेकिन आज वो कमी पूरी हुई है, मुझे विश्वास है कि प्रभु राम आज हमें अवश्य क्षमा करेंगे।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News