जीत के बाद केंद्रीय कैबिनेट की बैठक आज, नई सरकार पर मंथन, इस दिन शपथ ले सकते है मोदी

pm-modi-will-be-cabinet-meeting-today-after-loksabha-election

नई दिल्ली।

2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने अकेले अपनी दम पर तीन सौ आंकड़ा पार कर इतिहास रच दिया है।2014  के बाद यह विपक्ष को दूसरा बड़ा झटका है। इस महाजीत के बाद आज मोदी सरकार ने16वीं लोकसभा के लिए अंतिम केंद्रीय कैबिनेट की यह बैठक बुलाई है। बैठक में16वीं लोकसभा भंग करने की सिफारिश और उम्मीदवारों को लेकर चर्चा की जाएगी।इस बैठक में नरेंद्र मोदी आज प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देंगे, इसके अलावा कई मुद्दों पर बात करेंगे और सरकार खत्म होने के औपचारिक काम को पूरा करेंगे।

बताया जा रहा है कि बैठक शाम को होगी, जिसमें 16वीं लोकसभा भंग करने की सिफारिश की जा सकती है।कैबिनेट के प्रस्ताव के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 16वीं लोकसभा के डिसॉल्व होने को मंजूरी देंगे। लोकसभा का कार्यकाल 3 जून को खत्म हो रहा है। इसके बाद 17वीं लोकसभा का गठन किया जाएगा। इसके गठन के लिए तीन चुनाव आयुक्त राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे और नवनिर्वचित उम्मीदवार की लिस्ट सौपेंगे। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में काउंसिल ऑफ मिनिस्टर्स साउथ ब्लॉक में प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे।वही भाजपा संसदीय बोर्ड ने गुरुवार को बैठक में प्रस्ताव पारित कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की सराहना की और पार्टी के एजेंडा को समर्थन देने के लिए लोगों को धन्यवाद दिया। सभी नवनिर्वाचित भाजपा सांसदों की शनिवार को बैठक हो सकती है जिसमें मोदी को नेता चुना जाएगा। इसके बाद सरकार के गठन के लिए राष्ट्रपति से मुलाकात की जाएगी।इसके बाद संभावना जताई जा रही है कि पीएम मोदी 30 मई को शपथ ले सकते है।करीब  4:00 से 5:00 के बीच  शपथग्रहण कार्यक्रम होना है, जिसमें नरेन्द्र मोदी पीएम पद की शपथ लेंगे ।बताया जा रहा है कि शपथ ग्रहण से पहले मोदी गुजरात के गांधीनगर में अपनी मां से आर्शीवाद लेने  भी जा सकते है। इसके बाद  पीएम मोदी 28 मई को वाराणसी में धन्यवाद रैली में शामिल होंगे।

राष्ट्रपति को इस्तीफा सौंपेंगें मोदी

कैबिनेट बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति से मिलेंगे और अपना इस्तीफा सौपेंगे। पुरानी सरकार खत्म होने के बाद नई सरकार की प्रक्रिया शुरू होगी। राष्ट्रपति एक बार फिर नरेंद्र मोदी को सरकार बनाने के लिए बुलाएंगे। दूसरी ओर आज ही एनडीए की बैठक भी हो सकती है, जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा हो सकती है।

शाह को मिल सकता है बड़ा पद

2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने महाजीत हासिल की है। भाजपा ने इस चुनाव में मोदी के नेतृत्व में 300 के आंकड़े को पहली बार छुआ है। इसके पीछे जीत के सूत्रधार अमित शाह की बड़ी भूमिका थी, लिहाजा नतीजे आते ही चर्चा शुरू हो गई कि क्या इस बार अध्यक्ष अमित शाह को मोदी की कैबिनेट में बड़ा पद मिल सकता है।हालांकि, इस बारे में अभी तक कोई औपचारिक बातचीत नहीं हुई है कि मंत्रिमंडल का गठन कैसा होगा, लेकिन कहा जा रहा है कि शाह को कोई अहम पद दिया जा सकता है।