पुलिस ने दलित युवक को बेरहमी से पीटा, बाहर आईं आंतें, परिजनों ने किया हंगामा

झारखंड के जमशेदपुर में पुलिस ने एक दलित युवक के साथ बेरहमी से मारपीट की है।

जमशेदपुर, डेस्क रिपोर्ट। झारखंड (Jharkhand) के जमशेदपुर (Jamshedpur) इलाके के जादूगोड़ा (Jadugora) से दलित युवक के साथ पुलिस (Police) द्वारा बेरहमी से मारपीट करने का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने बाइक चेकिंग के दौरान युवक को गिरफ्तार किया और कारण पूछने पर उसके साथ जमकर मारपीट की। गिरफ्तारी की सूचना मिलने पर जब उसका छोटा भाई थाने पहुंचा तो पुलिस ने उसकी भी जमकर पिटाई की।

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने युवक के छोटे भाई को इतनी बुरी तरह से मारा कि उसकी ऑपरेशन की जगह के टांके खुल गए और आंते बाहर आ गई। उसकी हालत देखकर पुलिस उसे तुरंत अस्पताल लेकर पहुंची जहां उसकी हालत गंभीर है।

Must Read- वाराणसी में सड़क पर उतरकर लोगों ने किया Adipurush का विरोध, जलाए कलाकारों के पुतले

पूरा मामला झारखंड के लोहनगरी जमशेदपुर जादूगोड़ा का है। यहां पर रोहित नामक युवक दुर्गा पूजा से लौटकर आ रहा था। साकची पहुंचने पर पुलिस ने मोटरसाइकिल चेकिंग अभियान के तहत उसे पकड़ लिया। जब उसने जांच का कारण पूछा तो पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। देर रात तक उसे थाने में बैठाए रखा और जब उसका भाई कार्तिक थाने पहुंचा तो उसके साथ भी मारपीट की गई। युवक की हालत गंभीर है और परिजनों ने पुलिस स्टेशन में जमकर हंगामा किया है।

 

परिजनों के मुताबिक कार्तिक का अपेंडिक्स का ऑपरेशन हुआ था। पुलिस ने उसके साथ बेरहमी से मारपीट की जिस वजह से उसके टांके फट गए और गंभीर हालत में उसे अस्पताल में भर्ती किया गया। परिजनों ने पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए न्याय की मांग की है। मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सोरेन सरकार और पुलिस प्रशासन को दलित विरोधी बताते हुए पुलिस कर्मियों को बर्खास्त कर कार्रवाई करने की मांग की है।