‘मोदी के पुतले जलाओ, देश की संपत्ति नहीं’ पढ़िए CAA को लेकर PM ने क्या कुछ कहा

नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक रैली संबोधित किया। इस दौरान नागरिकता संसोधन कानून को लेकर हो रही हिंसा पर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला| दिल्ली की 1731 कॉलोनियों को नियमित किए जाने को लेकर बीजेपी की ओर से आयोजित ‘धन्यवाद रैली’ में पीएम मोदी ने  ‘विविधता में एकता, भारत की विशेषता’ का नारा लगवाकर अपना संबोधन शुरू किया। 

पीएम मोदी ने कहा कि अगर मोदी पसंद नहीं है, तो मोदी को गाली दो। मोदी के पुतले लगाकर जलाओ। गरीब आटो वालों को क्यों मार रहे हो। गरीबों की झोपड़ी क्यों जला रहे हो। मोदी से नफरत करो, देश से नहीं। उन्होंने प्रदर्शन के दौरान पुलिसकर्मियों पर हो रहे हमलों को लेकर कहा पुलिस के 33 हजार जवानों ने देश की शांति और सुरक्षा के लिए शहादत दी है, उन्हें क्यों मार रहे हो। दिल्ली की जिस मंडी में आग लगी थी, वहां पुलिस ने जाकर जितने लोगों को हो सके जिंदा निकलने की कोशिश की, उनकी जाति और धर्म के बारे में नहीं पूछा। संकट आता है, तो पुलिस दिन-रात नहीं देखती। सर्दी-बरसात नहीं देखती। देश की संपत्ति मत जलाओ।

ममता बनर्जी पर साधा निशाना 

पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ साल पहले तक यही ममता दीदी संसद में खड़े होकर गुहार लगा रहीं थीं कि बांग्लादेश से आने वाले घुसपैठियों को रोका जाए, वहां से आए पीड़ित शरणार्थियों की मदद की जाए। संसद में स्पीकर के सामने कागज फेंकती थी। 

उन्होंने कहा कि दीदी, अब आपको क्या हो गया? आप क्यों बदल गयी? अब आप क्यों अफवाह फैला रही हों? चुनाव आते हैं, जाते हैं, सत्ता मिलती है चली जाती है, मगर आप इतना क्यों डरी हो। बंगाल की जनता पर भरोसा करो, बंगाल के नागरिकों को आपने दुश्मन क्यों मान लिया है?

मुझे मुसलिम बहुल देशों सम्मान मिल रहा इसलिए तिलमिलाए हुए हैं

पीएम ने कहा कि ये ऐसे लोग हैं जिन्हें जम्मू कश्मीर की विधानसभा में महिला और पुरुष के आधार पर बने स्थाई निवासी कानून से कोई दिक्कत नहीं थी, लेकिन यहां धार्मिक अल्पसंख्यकों का रास्ता आसान हो, इससे इन्हें दिक्कत हो रही है। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगी आज इस बात से भी तिलमिलाए हुए हैं कि आखिर क्यों मोदी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और खासकर मुसलिम बहुल देशों में इतना समर्थन मिलता है। क्यों वो देश मोदी को इतना पसंद करते हैं? अफगानिस्तान हो या फिलिस्तीन, सऊदी अरब हो या यूएई, मालदीव हो या बहरीन। इन सब देशों ने भारत को अपना सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया है। भारत की संस्कृति के साथ अपने रिश्ते को और प्रगाढ़ करने की कोशिश की है।

CAA से किसी की नागरिकता नहीं छिनेगी

पीएम मोदी ने कहा- CAA से भारत में रहने वाले किसी मुस्लिम की नागरिकता जाने वाली नहीं है। यह एक झूठ जो फैलाया जा रहा है कि मुस्लिमों के लिए देश में डिटेंशन सेंटर बना है। मैं साफ कर देना चाहता हूं कि देश में ऐसा कोई डिटेंशन सेंटर है ही नहीं। उन्होंने कहा कि कुछ दलित नेता बिना इस कानून को समझे बीच में कूद पड़े हैं।  पीएम मोदी ने कहा कि जो हिंदुस्तान की मिट्टी के मुसलमान हैं, उनसे नागरिकता कानून और एनआरसी दोनों का ही कोई लेना-देना नहीं है। पीएम मोदी ने विपक्ष पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग नागरिकता कानून को गरीबों के खिलाफ ही बता रहे हैं, कह रहे हैं कि जो लोग आएंगे वो यहां के गरीबों का हक छीन लेंगे। उन्होंने कहा कि अरे झूठ फैलाने से पहले कम से कम गरीबों पर तो दया करो भाई। ये एक्ट उन लोगों पर लागू होगा जो बरसों से भारत में ही रह रहे हैं। किसी नए शरणार्थी को इस कानून का फायदा नहीं मिलेगा। पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक प्रताड़ना की वजह से आए लोगों को सुरक्षा देने के लिए ये कानून है। उन्होंने कहा पाकिस्तान, अफगानिस्तान से जो भारतीय धर्म के आधार पर शिकार बनाए जाने के बाद जान-बचाकर भागकर भारत आए हैं उन्हें भारत की नागरिकता दी जा रही है और उनमें ज्यादातर दलित हैं। दिल्ली में एक महिला ने बच्ची को जन्म दिया और उसका नाम नागरिकता रख दिया। पाकिस्तान में दलितों के साथ अत्याचार हो रहा था, तब ये दलित राजनीति करने वाले चुप थे। नागरिकता कानून से देश में रहने वाले लोगों का कोई लेना-देना नहीं है। 

हाथ में तिरंगा देखकर सुकून मिलता है

नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों के हाथ में जब ईंट-पत्थर देखता हूं तो मुझे तकलीफ होती है। लेकिन मेरी सोच अलग है। जब उनके हाथ में हिंसा के साधन देखता हूं तो मुझे तकलीफ होती है। परन्तु जब उन्हीं में से कुछ के हाथ में तिरंगा देखता हूं, तो सुकून भी होता है। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि एक बार जब हाथ में तिरंगा आ जाता है तो वो फिर कभी हिंसा का, अलगाव का, बांटने की राजनीति का समर्थन नहीं कर सकता। मुझे पूरा विश्वास है कि हाथ में थमा यह तिरंगा इन लोगों को हिंसा फैलाने वालों के खिलाफ, हथियार उठाने वालों के खिलाफ, आतंकवादी हमले करने वालों के खिलाफ भी आवाज उठाने के लिये प्रेरित करेगा।

 आप मोदी का पुतला जलाओ, लेकिन देश की संपत्ति मत जलाओ

मैं इन लोगों को कहना चाहता हूं कि मोदी को देश की जनता ने बैठाया, ये अगर आपको पसंद नहीं है, तो आप मोदी को गाली दो, विरोध करो, मोदी का पुतला जलाओ। लेकिन देश की संपत्ति मत जलाओं, गरीब की रिक्शा मत जलाओं, गरीब की झोपडी मत जलाओ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here