Ration Card : राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी अपडेट, मिलेगा अतिरिक्त राशन का लाभ, इनके लिए बंद होगी सुविधा

अगले 6 महीने तक हितग्राही द्वारा अपने राशन कार्ड पर राशन सुविधा का लाभ नहीं लिया जाता है तो उन्हें नॉन प्रायरिटी हाउसहोल्डर्स की शैली में डाल दिया जाएगा।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। लाखों राशन कार्ड धारकों (Ration card holders)  के लिए बड़ी खबर है। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को सहायता देने के लिए सरकारी दुकानों से उन्हें सहूलियत दर पर अनाज का वितरण किया जाता है। जिसके तहत 2 किलो की दर से गेहूं और 3 किलो के हिसाब से चावल हितग्राहियों को उपलब्ध कराए जाते हैं। वहीं सरकार द्वारा लगातार हितग्राहियों से राशन कार्ड (ration card) के तहत योजना का लाभ लेने के दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं। बावजूद इसके इस योजना का लाभ नहीं ले रहे हैं। जिस पर अब राज्य शासन द्वारा सख्ती बरतने की तैयारी की गई है।

वैसे राशन कार्ड धारक जो योजना का लाभ नहीं ले रहे हैं उनके राशन कार्ड को निरस्त किया जा सकता है। दरअसल हितग्राही द्वारा राशन योजना का लाभ नहीं लेने पर उनके हिस्से के अनाज बच जाते हैं। जिनकी बिक्री बाहर होती है, वही जरूरतमंदों के हिस्से का अनाज खुले बाजार में बेचने को अपराध की श्रेणी में रखा गया है। ऐसे में दुकानदारों पर कालाबाजारी के साथ ही उनके लाइसेंस रद्द करने का प्रावधान है।

बोगस कार्ड को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा राशन कार्ड को आधार से लिंक करने की तैयारी की गई है। अब तक कई हितग्राहियों द्वारा राशन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक नहीं किया गया है। जिसमें राज्य शासन द्वारा लगातार लोगों से आधार को राशन कार्ड से लिंक किए जाने की अपील की जा रही है। इसके साथ ही राज्य शासन द्वारा तय किया गया है कि यदि अगले 6 महीने तक हितग्राही द्वारा अपने राशन कार्ड पर राशन सुविधा का लाभ नहीं लिया जाता है तो उन्हें नॉन प्रायरिटी हाउसहोल्डर्स की शैली में डाल दिया जाएगा। इसके बाद इन लोगों को राज्य शासन की तरफ से राशन का लाभ नहीं दिया जाएगा।

Read More : Mandi Bhav: इंदौर में आज डॉलर चना के दाम में तेजी, देखें 5 नवंबर 2022 का मंडी भाव

यदि आपके पास भी राशन कार्ड है तो यह खबर आपके काम की है और अभी सस्ती राशन योजना का लाभ ले सकते हैं। नवंबर के महीने में राशन कार्ड धारकों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने बड़ी घोषणा की है। छत्तीसगढ़ राज्य में लोगों को बंपर चावल उपलब्ध कराया जाएगा। नवंबर के महीने में राज्य के बीपीएल परिवार को 45 किलो से लेकर 135 किलो तक चावल उपलब्ध कराए जा सकते हैं। राज्य के प्राथमिकता राशन कार्ड धारकों को 15 किलो से लेकर 150 किलो चावल उपलब्ध कराने की है।

राशन कार्ड धारकों को बिल्कुल फ्री में चावल उपलब्ध कराया जाएगा, बता दें कि अक्टूबर तक बीपीएल परिवारों को 1 जबकि एपीएल परिवारों को 10 किलो में चावल खरीदना पड़ा था। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा Lockdown के दौरान एक परिवार को अधिकतम 50 किलो चावल का लाभ दिया गया था। अब सरकार की तरफ से देशभर के लोगों को दिसंबर तक अतिरिक्त चावल फ्री देने का ऐलान किया गया है।

प्राथमिकता कार्ड पर छत्तीसगढ़ सरकार के कोटे में बांटे जाने वाले चावल से राशन कार्ड धारकों के परिवार के सदस्यों को 15 किलो से लेकर 150 किलो तक चावल उपलब्ध कराए जाएंगे। 2 महीने के अतिरिक्त 44 महीने के चावल को एक बार में ही वितरण करने की संभावना तेज हो गई है। वहीं दिसंबर में भी केंद्र और राज्य सरकार द्वारा हितग्राहियों को फ्री चावल वितरण का लाभ दिया जा सकता है।

शिमला के राशन कार्ड धारकों के लिए महत्वपूर्ण सूचना है। दरअसल प्रदेश के साढ़े 19 लाख हितग्राहियों को नवंबर महीने में आधा किलो चावल अधिक उपलब्ध कराया जाएगा। अक्टूबर महीने में प्रदेश के राशन कार्ड धारकों को साढ़े 5 किलो चावल दिया गया था लेकिन अब इसे बढ़ाकर 6 किलो कर दिया गया है। वहीं एपीएल परिवार को राशन डिपो में 6 किलो चावल उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके लिए खाद नागरिक और उपभोक्ता मामले विभाग ने चावल और आटे की अलॉटमेंट भी जारी कर दी है। जिसका लाभ हितग्राहियों को होगा।