Ration Card Benefit : राशन कार्ड धारकों के लिए राहत भरी खबर, खाते में आएंगे हजार रुपए, मिलेगी 80 हजार रूपए की आर्थिक सहायता, बीपीएल कार्ड में जुड़ेंगे इनके नाम

राशन कार्ड धारकों को बड़ा लाभ मिलने वाला हैं।एक तरफ जहां सरकार द्वारा उन्हें 80000 की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। इसके साथ ही उन्हें त्योहार गिफ्ट के रूप में हजार रुपए खाते में भेजे जाएंगे। वही बीपीएल कार्ड में कई हितग्राहियों के नाम जोड़े जाने हैं।

Ration Card Holders Benefit : राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी खबर है। सरकारी राशन कार्ड योजना का लाभ उठा रहे तो आपको कई प्रकार की सुविधाएं मिल सकती है। राज्य सरकारों द्वारा इसके लिए अलग-अलग ऐलान किए जा रहे हैं।

कार्ड धारकों को मिल रहे 1000 रुपए

तमिलनाडु सरकार द्वारा हितग्राहियों को देने का ऐलान किया गया था। मुख्यमंत्री ने मौके पर राशन कार्ड धारकों के खाते में ₹1000 भेजने के निर्देश दिए थे। वहीं अब राज्य सरकार द्वारा जरूरतमंदों को इसका फायदा दिया जा रहा है। राज्य की तरफ से 9 जनवरी को इस योजना को लांच किया गया है।

पात्र परिवारों के खाते में 1107 रुपए पोंगल गिफ्ट हैंपर का वितरण शुरू किया गया है।इसके अलावा उन्हें ₹35 किलो के दाम से 1 किलो चीनी सहित ₹35 का पनीर करंबू भी दिया जा रहा है। दो करोड़ राशन कार्ड धारकों को पोंगल पर लाभ दिया जाएगा। इससे पहले योजना की शुरुआत मुख्य मंत्री स्टालिन द्वारा की गई थीस्टालिन जिसके लिए सरकार की तरफ से टोकन वितरण किया गया था।

हरियाणा में पीपीपी परिवारों को मिलेगा जनवरी का राशन

परिवार पहचान पत्र में सत्यापित आय के चलते गरीबी रेखा से नीचे परिवारों को सूची से बाहर कर दिया गया था। अब हरियाणा सरकार ने उन्हें बड़ी राहत दी है। पीपीपी में गड़बड़ियों को दुरुस्त करने की आवेदन देने वाले परिवारों को जनवरी महीने से राशन देने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं जिनका नाम गलती से कटा है, ऐसे बीपीएल धारकों के बीपीएल कार्ड बनाए जाएंगे।

इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सभी अधिकारियों को इस काम को तत्परता से करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि सबसे ज्यादा 38000 बीपीएल परिवारों के नाम फरीदाबाद से कटे हैं। जिनके नाम काटे गए हैं, उनके परिवार के लोग औद्योगिक इकाई सहित अन्य क्षेत्र में कार्य कर रहे थे। इस कारण से उनके नाम को बीपीएल श्रेणी से काटा गया है। जिसमें अतिरिक्त उपायुक्त द्वारा कहा गया है कि वर्तमान में इन परिवारों की सही स्थिति का पता लगाया जाए और 7 दिन के अंदर रिपोर्ट पेश की जाए।

हरियाणा सरकार द्वारा 960000 परिवारों के नाम राशन कार्ड से काटे गए हैं। जिसके कारण इस पर बवाल मचा हुआ है। हालांकि ठेके पर खेती करने वाले और कर्जदार किसानों के नाम बीपीएल की सूची से हटा दिए गए हैं। ₹400000 से अधिक की फसल बेचे जाने वाले किसानों के नाम सूची से हटाए जाने पर बवाल मच गया है। हालांकि ऐसे किसानों को राहत दी जाएगी। ठेके पर जमीन देकर फसल उगाई करने वाले के लिए जल्द कोई रास्ता निकाला जाएगा। बता दे कि बीपीएल परिवारों को प्रदेश सरकार द्वारा हर साल ₹8000 तक की सुविधाएं दी जाती है।

राशन कार्ड धारकों को मिलेगी ₹80000 की आर्थिक मदद

हरियाणा सरकार द्वारा बड़ी तैयारी की गई है कि अगर पुराना हो गया है और आप इसकी मरम्मत कर आना चाहते हैं तो राज्य सरकार द्वारा इसके लिए आर्थिक मदद दी जाएगी। अब सरकार एक ही योजना के तहत यह पैसा देगी। हरियाणा राज्य में संचालित अंबेडकर नवीनीकरण योजना के तहत सरकार घर को रिपेयर कराने के लिए ₹80000 आर्थिक मदद कर रही है। गरीब लोगों के लिए हरियाणा सरकार द्वारा अंबेडकर नवीनीकरण योजना लागू की गई है।

गरीब परिवार को आवेदन के बाद घर में नवीनीकरण के लिए आर्थिक मदद दी जाएगी। हालांकि इसके लिए उन्हें कुछ शर्तों को पूरा करना अनिवार्य होगा। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं। लोग इस स्कीम का फायदा उठा सकेंगे। इसके लिए हितग्राहियों को आधार कार्ड, फैमिली के एक सदस्य के नाम पर हुए मकान के पेपर, राशन कार्ड, मकान के साथ एक फोटो कॉस्ट सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है। इसके साथ ही किसी सरकारी बैंक में खाता होना बेहद अनिवार्य होगा।

जरुरी होंगे दस्तावेज 

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए हितग्राही को हरियाणा राज्य का निवासी होना आवश्यक है।
  • इसके साथ ही आवेदक के पास गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने का सर्टिफिकेट भी होना चाहिए।
  • साथ ही आवेदन करने वाले का मकान 10 साल पुराना होना चाहिए और जर्जर अवस्था में होना चाहिए।
  • बीपीएल सूची में आने वाले लोगों को स्क्रीन की धनराशि मिलने में प्राथमिकता दी जाएगी।
  • आवेदक को दूसरी बार योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।