आज हम पूरे उल्लास और गर्व के साथ अपना 71वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। दिल्ली में हुए भव्य समारोह में सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (नेशनल वार मेमोरियल) पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। ये पहली बार था जब प्रधानमंत्री अमर जवान ज्योति के स्थान पर नेशनल वार मेमोरियल पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। राजपथ पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने परेड की सलामी ली। इस बार गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसनारो शामिल रहे।

आज गणतंत्र दिवस परेड में सबसे पहले कमांडिग ऑफिसर असित मिस्त्री ने सलामी दी। इस अवसर पर जलसेना द्वारा बोइंग पी8-आई पैट्रोलिंग एयरक्राफ्ट और कोलकाता क्लास डेस्ट्रॉयर व कल्वरी क्लास की पनडुब्बी की झांकी का प्रदर्शन किया गया। टी-90 भीष्म टैंक, तोप के-9 ने भी अपना शक्तिप्रदर्शन किया। परेड में इंटीग्रेटेड वेपन सिस्टम रुद्र को भी शामिल किया गया। परेड में 16 राज्यों द्वारा 22 झांकियों का प्रदर्शन किया गया जिसमें जम्मू कश्मीर की झांकी ‘बैक टू विलेज’ विशेष आकर्षण का केंद्र रही।

स्त्री शक्ति ने भी यहां मज़बूत भागीदारी की। कैप्टन तानिया शेरगिल ने परेड का नेतृत्व किया वहीं सीआरपीएफ की महिला बाइकर्स ने मोटरसाइकिल पर हैरतअंगेज़ करतब दिखाए। पांच एनफिल्ड पर महिला बाइकर्स ने पिरामिड बनाया वहीं इनके द्वारा ऑलराउंड डिफेंस फार्मेशन और बीम फार्मेशन भी बनाई गई। इस अवसर पर बहादुरी के लिये पुरस्कृत 49 बच्चों ने भी राष्ट्रपति को सलामी दी।