झारखंड कांग्रेस सांसद धीरज साहू और करीबियों के ठिकानों से निकला 300 करोड़ रुपए कैश, गहने भी बरामद, तीन राज्यों में आईटी की छापेमारी अब भी जारी

Jharkhand Congress Leader Dheeraj Sahu : झारखंड के राज्यसभा सांसद और कांग्रेस नेता धीरज साहू इन दिनों परेशानियों में घिरे हुए हैं। दरअसल, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट लगातार छापेमार कार्रवाई कर रही है। इसी क्रम में 6 दिसंबर को धीरज साहू के 10 ठिकानों पर दबिश दी गई थी। जिसमें ओडिशा के संबलपुर, बलांगीर, तितलागढ़, बौध, सुंदरगढ़, रायगढ़, रावलकिला और भुवनेश्वर के अलावा राजधानी रांची समेत पश्चिम बंगाल के कोलकाता शामिल है, जहां से अब तक 300 करोड़ से ज्यादा की धनराशि बरामद कर ली गई है। बता दें कि आयकर विभाग ने जब्त की गई रुपयों की गिनती के लिए भुवनेश्वर से 6 बड़ी और छोटी मशीनें मंगवाई है, जिससे गिनती की जा रही है।

झारखंड कांग्रेस सांसद धीरज साहू और करीबियों के ठिकानों से निकला 300 करोड़ रुपए कैश, गहने भी बरामद, तीन राज्यों में आईटी की छापेमारी अब भी जारी

जानिए क्या कहा आयकर विभाग के महानिदेशक ने?

आयकर विभाग के महानिदेशक संजय बहादुर ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि कैश गिनने में अभी और 2 दिन लग सकते हैं। जिसके बाद ही कोई आधिकारिक जानकारी दी जाएगी। फिलहाल, सभी स्थानों पर निगरानी करते हुए जांच जारी है। वहीं, कांग्रेस सांसद ने चुप्पी साध रखी है और किसी प्रकार का कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है। बता दें कि मामले में अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

किन ठिकानों पर कार्रवाई जारी?

बता दें कि छापेमारी के दौरान पहले दिन 30 अलमारियों से भारी मात्रा में नोट बरामद किए गए थे। जिसके दूसरे दिन नोटों से भरे कई बैग भी मिले थे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह धनराशि बलदेव साहू और ग्रुप का कंपनी के बलांगीर और संबलपुर से बरामद किए गए हैं। इसके अलावा, राइस मिलर और ट्रांसपोर्टर राज किशोर जायसवाल के ठिकाने पर भी भारी मात्रा में राशि जब्त की गई है। वहीं, बौध जिले में चल रही कार्रवाई शुक्रवार की शाम खत्म कर दी गई है जबकि बाकि स्थानों पर यह सिलसिला अब भी जारी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, आयकर विभाग ने इस कार्रवाई के बाद कई एकाउंट्स फ्रिज कर दिए हैं। जल्द ही मामले में ईडी की भी एंट्री हो सकती है।

कौन हैं धीरज साहू?

धीरज साहू कांग्रेस पार्टी के नेता हैं जो कि तीसरी बार राज्यसभा सांसद बनाए गए है। सबसे पहले वह 2023 से 2005 तक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य थे। जिसके बाद 2010 से 2016 तक राज्यसभा के सदस्य रह चुके हैं। बता दें कि साहू कांग्रेसी नेता होने के साथ-साथ बड़े उद्योगपति भी हैं। जिनमें उनका शराब कारोबार शामिल है। साल 2018 में राज्यसभा चुनाव के दौरान उन्होंने चुनाव आयोग को एक शपथ पत्र सौंपा था, जिसमें उन्होंने अपनी संपत्ति 34 करोड रुपए बताई थी। इसके साथ ही उन्होंने 2.36 करोड रुपए का कर्ज भी खुद पर घोषित किया था।


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News