रूसी कोरोना वैक्सीन: स्पूतनिक-वी के इस्तेमाल पर कई देशों में रोक, एचआईवी का खतरा

डेस्क रिपोर्ट। रूस में बनी कोरोना महामारी की वैक्सीन स्पूतनिक एक बार फिर चर्चा में है, दरअसल अफ्रीकी देश नामीबिया ने रूस के कोविड-19 वैक्सीन स्पूतनिक वी के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। पड़ोसी देश दक्षिण अफ्रीका द्वारा उठाई गई चिंताओं के बाद किया है, हालांकि ऐसा कोई मामला सामनें आया है या नहीं इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

Government Jobs : DRDO में इन पदों के लिए निकली भर्ती, ऐसे करें आवेदन

फिलहाल इस फैसले के बाद नामीबिया के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि दक्षिण अफ्रीका के फैसले के बाद उनकी सरकार ने भी तत्काल प्रभाव से इसके इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। जब तक कि WHO द्वारा इसे आपातकालीन उपयोग के लिए इजाजत नहीं मिल जाती है। स्पूतनिक-वी वैक्सीन को विकसित करने वाले जमेलिया रिसर्च इंस्टीट्यूट ने हालांकि इस फैसले पर नाखुशी जाहिर की है।

MP: विभाग की जांच में बड़ा खुलासा, मानदेय घोटाले की जद में कई जिले, 250 खाते में भेजी गई राशि

इंस्टीट्यूट ने कहा है कि नामीबिया का फैसला किसी साइंटिफिक एविडेंस या रिसर्च पर आधारित नहीं है। दक्षिण अफ्रीकी नियामक SAHPRA ने फैसला लिया है कि वह अपने देश में स्पूतनिक-वी के आपात इस्तेमाल को मंजूरी नहीं देगा। इसके पीछे दवा नियामक ने कहा है कि कुछ शोधों से यह पता लगता है कि स्पूतनिक-वी में एडेनोवायरस टाइप 5 वेक्टर है, जिसके इस्तेमाल से पुरुषों में एचाईवी होने की आशंका बढ़ जाती है।भारत में भी स्पूतनिक-वी वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है। हालांकि, अभी तक ऐसी कोई आशंका सामने नहीं आई है।