सहारा ग्रुप के चेयरमैन सुब्रत रॉय का 75 वर्ष की उम्र में निधन, मुंबई में ली अंतिम सांस

Amit Sengar
Published on -
Subrata Roy

Subrata Roy Passes Away : सहारा श्री यानी सुब्रत रॉय अब हमारे बीच नहीं रहे, पिछले काफी समय से बीमार थे सुब्रत रॉय जिसके बाद आज उन्होंने मुंबई में अंतिम सांस ली। बीमारी को लेकर निजी अस्पताल में उनका इलाज भी चल रहा था। सुब्रत की उम्र 75 वर्ष थी।

जानकारी के मुताबिक उनके पार्थिव शरीर को कल यानी बुधवार के दिन लखनऊ के सहारा शहर लाया जाएगा जहां उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। सुब्रत रॉय के देहांत की खबर के बाद सभी राजनैतिक दल, राजनेताओं और व्यवसाई उन्हें सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं।

बंगाली परिवार में जन्मे सुब्रत का जन्म 10 जून 1948 को बिहार में हुआ था। कोलकाता में प्रारंभिक शिक्षा कर गोरखपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग कर सुब्रत ने गोरखपुर में ही अपने व्यवसाय की शरुआत की। 1978 में सहारा इंडिया ग्रुप को स्थापना करने के बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। एक के बाद एक वह अपने कार्यक्षेत्र में सफलता का परचम लहराते चले गए। इंडिया टुडे ने एक सर्वे में सुब्रत का नाम भारत के 10 शक्तिशाली व्यक्तियों में बताया था। पुणे वॉरियर्स इंडिया, ग्रॉसवेनर हाउस, एमबी वैली सिटी, प्लाजा होटल, ड्रीम डाउनटाउन होटल के मालिक सुब्रत ने कामयाबी की हर ऊंचाई को छुआ।

सुब्रत को 2013 में डॉक्टरेट की मानद उपाधि यूनिर्वसिटी ऑफ़ ईस्ट लंडन से नवाजा गया, इसके बाद 2011 में उन्हें दि बिजनेस आइकॉन ऑफ दि ईयर का अवार्ड लंदन में दिया गया, 2012 में इंडिया टुडे के द्वारा भारत के दस सबसे प्रभावशाली व्यवसायियों में भी वे शुमार किए गए, इसके अलावा उन्हें “ITA TV आइकॉन ऑफ दि ईयर” अवार्ड 2007 और ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड 2004, बिजनेस ऑफ दि ईयर अवार्ड” से 2002, में सम्मानित किया गया।


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News