“सर पे लाल टोपी रूसी फ़िर भी दिल है हिंदुस्तानी” रूस में बोले PM Modi-“यह गीत भले ही पुराना हो गया हो लेकिन सेंटीमेंट्स एवरग्रीन हैं”

मोदी ने कहा रूस शब्द सुनते ही हर भारतीय के मन में पहला शब्द आता है "भारत के सुख-दुख का साथी, भारत का भरोसेमंद दोस्त। रूस में सर्दी के मौसम में तापमान कितना ही माइनस में नीचे क्यों न चला जाए मगर भारत-रूस की दोस्ती हमेशा प्लस में रही है, गर्मजोशी भरी रही है।

Atul Saxena
Published on -
PM Modi in Russia

PM Modi in Russia: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय रूस के दौरे पर हैं, इस दौरान उनका रूस में रह रहे भारतीय परिवारों से मुलाकात का कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें उन्होंने ताकतवर होते भारत, बदलते भारत और विकसित होते भारत की तस्वीर सबके सामने रखी , विशेष बात ये रही कि उन्होंने इसका श्रेय देश की जनता को दिया, उन्होंने भारत रूस के दशकों पुराने सम्बन्धों को भी याद किया और प्रसिद्द गीत सर पे लाल टोपी रुसी की याद भी ताजा की …

मैंने प्राण लिया है तीसरे टर्म में मैं तीन गुनी ताकत से काम करूंगा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये बहुत सुखद है कि तीसरी बार सरकार में आने के बाद यहाँ रह रहे भारतीय समुदाय के लोगों से मेरा पहला संवाद यहां मॉस्को में आपके साथ हो रहा है। आज 9 जुलाई है, आज के ही दिन मुझे शपथ लिए पूरा एक महीना हुआ है। आज से ठीक 1 महीने पहले 9 जून को  मैंने भारत के पीएम पद की शपथ ली थी। उसी दिन मैंने एक प्रण लिया था कि अपने तीसरे टर्म में मैं तीन गुनी ताकत से काम करूंगा, तीन गुनी रफ्तार से काम करूंगा।

सरकार के कई लक्ष्यों में भी 3 का अंक छाया

पीएम ने कहा कि ये भी एक संयोग है कि सरकार के कई लक्ष्यों में भी 3 का अंक छाया हुआ है। सरकार एक लक्ष्य है, तीसरे टर्म में भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी बनाना। सरकार का लक्ष्य है, तीसरे टर्म में गरीबों के लिए 3 करोड़ घर बनाना। सरकार का लक्ष्य है, तीसरे टर्म में 3 करोड़ लखपति दीदी बनाना। आप सब जानते हैं कि आज का भारत जो लक्ष्य ठान लेता है, वो पूरा करके ही रहता है। आज भारत वो देश है, जो चंद्रयान को चंद्रमा पर वहां पहुंचाता है, जहां दुनिया का कोई देश नहीं पहुंच सका। आज भारत वो देश है, जो डिजिटल ट्रांजेक्शन का सबसे रिलायबल मॉडल दुनिया को दे रहा है।

भारत बदल रहा है, क्योंकि भारत देश के नागरिकों के सामर्थ्य पर भरोसा करता है

मोदी ने कहा-  आज भारत वो देश है, जहां दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम है। 2014 में देश में बस कुछ सौ स्टार्टअप थे, आज इनकी संख्या लाखों में है। आज भारत वो देश है, जो रिकॉर्ड संख्या में पेटेंट फ़ाइल कर रहा है, रिसर्च पेपर पब्लिश कर रहा है। यही मेरे देश के युवाओं की शक्ति है। पिछले 10 वर्षों में देश ने विकास की जो रफ्तार पकड़ी है, उसे देखकर दुनिया हैरान है। दुनिया के लोग जब भारत आते हैं, तो कहते हैं कि ‘भारत बदल रहा है।’ भारत का कायाकल्प, भारत का नव-निर्माण वो साफ-साफ देख पा रहे हैं। ये सच है भारत बदल रहा है, क्योंकि भारत अपने 140 करोड़ नागरिकों के सामर्थ्य पर भरोसा करता है। 140 करोड़ भारतीय अब विकसित देश बनने का सपना देख रहे हैं।

आज मेरा देश आत्मविश्वास से भरा हुआ है

मोदी ने कहा आज 140 करोड़ भारतीय हर क्षेत्र में सबसे आगे निकलने की तैयारी में जुटे रहते हैं। आप सभी ने देखा है, हम अपनी अर्थव्यवस्था को सिर्फ कोविड संकट से ही बाहर निकालकर ही नहीं लाए, बल्कि भारत ने अपनी अर्थव्यवस्था को दुनिया की सबसे मजबूत इकोनॉमी में से एक बना दिया। भारत में ये बदलाव सिर्फ सिस्टम और इंफ्रास्ट्रक्चर का ही नहीं है, बल्कि ये बदलाव देश के हर नागरिक के, हर नौजवान के आत्मविश्वास में भी दिख रहा है। 2014 से पहले हम निराशा की गर्त में डूब चुके थे। लेकिन आज देश आत्मविश्वास से भरा हुआ है।

आने वाले 10 साल और भी तेज विकास के होने वाले हैं

पीएम मोदी ने कहा – चुनाव के दौरान मैं कहता था कि बीते 10 सालों में भारत ने जो विकास किया है, वो तो सिर्फ एक ट्रेलर है। आने वाले 10 साल और भी तेज विकास के होने वाले हैं। भारत की नई गति, दुनिया के विकास का नया अध्याय लिखेगी। मुझे खुशी है कि वैश्विक समृद्धि को नई ऊर्जा देने के लिए भारत और रूस कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। यहां मौजूद आप सभी लोग भारत और रूस के संबंधों को नई ऊंचाई दे रहे हैं। आपने अपनी मेहनत और ईमानदारी से रूस के समाज में अपना योगदान दिया है।

रूस शब्द सुनते ही हर भारतीय के मन में पहला शब्द आता है “भारत के सुख-दुख का साथी

मोदी ने कहा रूस शब्द सुनते ही हर भारतीय के मन में पहला शब्द आता है “भारत के सुख-दुख का साथी, भारत का भरोसेमंद दोस्त। रूस में सर्दी के मौसम में तापमान कितना ही माइनस में नीचे क्यों न चला जाए मगर भारत-रूस की दोस्ती हमेशा प्लस में रही है, गर्मजोशी भरी रही है। ये रिश्ता आपसी विश्वास और परस्पर आदर की मज़बूत नींव पर बना है। भारत-रूस की दोस्ती के लिए मैं विशेष रूप से अपने मित्र राष्ट्रपति पुतिन की लीडरशिप की भी सराहना करूंगा। उन्होंने दो दशक से ज्यादा समय तक इस पार्टनरशिप को मज़बूती देने के लिए शानदार काम किया है। बीते 10 सालों में मैं छठी बार रूस आया हूं और इन सालों मैं हम एक दूसरे से 17 बार मिले हैं।

“सर पे लाल टोपी रुसी फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी” ये गीत आज भी दिलों में है 

मोदी ने प्रसिद्द फ़िल्मी गीत मेरा जूता है जापानी, ये पतलून इंग्लिस्तानी, सर पे लाल टोपी रुसी फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी की याद दिलाई  और कहा कि ये गीत घर घर गुनगुनाया जाता था , ये गीत अज भले ही पुराना हो गया लेकिन सेंटीमेंट्स  एवरग्रीन है।  मोदी ने कहा-  2015 में जब मैं यहां आया था, तब मैंने कहा था कि 21वीं सदी भारत की होगी। तब मैं कह रहा था, आज दुनिया कह रही है। दुनिया के सभी विशेषज्ञ कह रहे हैं कि 21वीं सदी भारत की सदी है। आज विश्व बंधु के रूप में भारत दुनिया को नया भरोसा दे रहा है। भारत की बढ़ती क्षमताओं  ने पूरी दुनिया को स्थिरता और समृद्धि की उम्मीद दी है।

 

 

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News