वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री का निधन, पार्टी में शोक लहर

नागप्पा पेशे से डॉक्टर थे और हावेरी जिला में हंगल तालुका के एक्कियालुर में डॉक्टर (Doctor) के तौर पर काम करते थे।उन्होंने हरिहर में स्थित सरकारी अस्पताल  (Government Hospital)में मुख्य चिकित्सा अधिकारी (chief Medical Officer) के तौर भी काम किया था।

कांग्रेस

दावणगेरे, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता (Senior congress leader) और कर्नाटक के पूर्व मंत्री डॉ. वाई नागप्पा (Dr. Y Nagappa) का निधन हो गया है। वे 75 वर्ष के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे। मंगलवार को नागप्पा ने अपने आवास पर अंतिम सांस ली।नागप्पा अपने पीछ एक पुत्र तथा तीन पुत्रियों को छोड़ गये हैं। नागप्पा के निधन के बाद कांग्रेस में शोक की लहर है।

नागप्पा पेशे से डॉक्टर थे और हावेरी जिला में हंगल तालुका के एक्कियालुर में डॉक्टर (Doctor) के तौर पर काम करते थे।उन्होंने हरिहर में स्थित सरकारी अस्पताल  (Government Hospital)में मुख्य चिकित्सा अधिकारी (chief Medical Officer) के तौर भी काम किया था।  आज से 30 साल पहले अपनी राजनैतिक सफर की शुरुआत की थी। इससे पहले   वह वर्ष 1989, 1999 तथा 2004 में तीन पर हरिहर विधानसभा से निर्वाचित हुए थे।

बता दे कि इससे पहले सोमवार देर रात वरिष्ठ कांग्रेस नेता (Senior congress Leader) और सरायपाली रियासत (Saraipali State) के राजा महेंद्र बहादुर सिंह (Raja Mahendra Bahadur Singh) का कोरोना से निधन हो गया था।  सोमवार देर रात राजा महेन्द्र सिंह ने राजधानी के एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली। बीते दिनों राजा महेन्द्र सिंह (Mahendra Bahadur Singh) को तबियत बिगड़ने के चलते अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। कोरोना संक्रमण के चलते उन्हें रायपुर के निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां सोमवार देर रात उनका निधन हो गया।