कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक का हार्ट अटैक से निधन

मेरठ।
कोरोना संकटकाल (Corona crisis) में एक के बाद एक राजनेताओं के निधन की खबर सामने आ रही है। अब
वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक पंडित जय नारायण शर्मा (Senior Congress leader and former MLA Pandit Jai Narayan Sharma) का निधन हो गया है।पूर्व विधायक को रात दो बजे हार्ट अटैक आया और उनकी हृदय गति रूक गई। उनके निधन की खबर सुनते ही कांग्रेस नेताओं के अलावा तमाम दलों के नेताओं का उनके आवास प्रहलाद वाटिका बुढ़ाना गेट स्थित घर पर सोमवार सुबह तांता लग गया। उनका अंतिम संस्कार सूरजकुंड श्मशान घाट पर किया जाएगा।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, राहुल गांधी और रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह ने उनके निधन पर शोक जताया और परिजनों को फोन कर सांत्वना दी। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पंडित जयनारायण शर्मा गांधीवादी चिंतक एवं कांग्रेस के वयोवृद्ध नेताओं में शुमार थे। कहा जाता है कि पंडित जयनारायण शर्मा विधायक होने से ही चर्चा में नहीं रहे हैं बल्कि प्रतिवर्ष जिमखाना में आयोजित होने वाले होली मिलन कार्यक्रम के दौरान महामूर्ख की उपाधि भी उन्हीं को मिलती रही है। जिसको मेरठ में सभी धर्म के लोग याद करते रहते हैं। पंडित जयनारायण शर्मा मेरठ में कांग्रेस के पिलर कहे जाते थे।

ऐसा था राजनैतिक सफर
मेरठ कॉलेज से छात्र नेता के रुप में राजनीति में पहला कदम।
-पंडित जयनारायण शर्मा राज्यपाल सत्यपाल मलिक के भी सीनियर छात्र नेता थे।
-1984 में मेरठ शहर विधानसभा सीट से कांग्रेस की तरफ विधायक का चुनाव लड़ा और विधानसभा पहुंचे थे।
-विधानसभा में मेरठ के विभिन्न मामलों को प्राथमिकता से उठाया था।
-1989 में विधानसभा चुनाव हारने के बाद मेयर का चुनाव भी लड़ा और हार गए।