कंगना रनौत की बढ़ी मुश्किलें, समन जारी, 6 दिसंबर को होना होगा पेश

देश में अलग अलग क्षेत्रों ने सिख समुदाय कंगना रनौत के बयान पर आक्रोश जता रहा है।

kangna

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। फिल्म अभिनेत्री पद्मश्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं।  सिख समाज पर टिप्पणी के बाद देश के अलग अलग हिस्सों में एफआईआर दर्ज होने के बाद अब दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सद्भाव समिति की तरफ से कंगना रनौत को समन जारी (Summons issued to Kangana Ranaut)  किया गया है।  समन में कंगना रनौत को 6 दिसंबर को 12 बजे समिति के सामने पेश होने के निर्देश दिए गए है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद कंगना रनौत द्वारा किसान आंदोलन (किसान मोर्चा) पर अपमानजनक टिप्पणी करते हुए इसे खालिस्तानी आंदोलन बताया।  कंगना ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर लिखा कि खालिस्तानी आतंकवादी आज भले ही सरकार का हाथ मरोड़ रहे हैं लेकिन हमें उस महिला (पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी) को नहीं भूलना चाहिए जिसने अपनी जूती के नीचे इन्हें कुचल दिया था।

ये भी पढ़ें – UPPCL Recruitment 2021 : पावर कारपोरेशन लिमिटेड को चाहिए 173 जूनियर इंजीनियर्स, ये है सैलरी

कंगना रनौत की सिख समाज की तुलना खालिस्तानियों से किये जाने पर देशभर में तीखी प्रतिक्रिया हो रही है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी (DSGMC) ने मंदिर मार्ग थाने के साइबर सेल में , मुंबई के खार पुलिस स्टेशन पर एफआईआर दर्ज करवा चुकी है।  इसके अलावा देश के अलग अलग हिस्सों में कंगना रनौत के खिलाफ आक्रोश है।

ये भी पढ़ें – गृहमंत्री की इंदौर में समीक्षा बैठक, Amazon पर FIR के दिये निर्देश, कांग्रेस पर उठाए सवाल

इन सबके बीच सिख समाज पर आपत्तिजनक और अपमानजनक टिप्पणी करने पर दिल्ली विधानसभा की शांति  सद्भाव समिति ने कंगना रनौत को समन भेजा है। समन में कंगना को 6 दिसंबर को 12 बजे समिति के सामने हाजिर होने के निर्देश दिए गए हैं।  गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सद्भाव समिति के अध्यक्ष आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा हैं।

ये भी पढ़ें – बड़ी खबर: रेलवे ने बदला अपना फैसला, अब 10 रुपये में मिलेगा प्लेटफॉर्म टिकट