सर्वे : 2019 में पीएम पद के लिए यह है जनता की पहली पसंद

Survey--For-the-post-of-PM-in-2019-this-is-the-public's-first-choice

नई दिल्ली।

लोकसभा चुनाव से पहले देश की जनता का मिजाज जानने के लिए मीडिया द्वारा तरह तरह के सर्वे का करवाए जा रहे है। कोई यह पता लगाने के लिए सर्वे करवा रहा है कि किसको कितनी सीटे मिल रही है तो कोई यह पता लगाने में जुटा है कि देश किसे प्रधानमंत्री के रुप में देखना चाहता है। फर्स्टपोस्ट-आईपीएसओएस नेशनल ट्रस्ट सर्वेक्षण के अनुसार अब भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जनता का भरोसा बना हुआ है। मोदी 53 प्रतिशत की रेटिंग के साथ देश के सबसे ज्यादा भरोसेमंद राजनेता बनकर उभरे हैं। वही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दूसरे पर है, सर्वे में उन्हें 26.9 प्रतिशत की रेटिंग मिली है।

दरअसल, फर्स्टपोस्ट-आईपीएसओएस नेशनल ट्रस्ट सर्वेक्षण के अनुसार, दक्षिण के राज्यों आंध्र प्रदेश, केरल और तमिलनाडु में राहुल सबसे लोकप्रिय नेता बनकर उभरे हैं। इस सवेर्क्षण में 291 शहरी वार्डों और 690 गांवों के 34,470 लोगों ने भाग लिया। इस सूची में बंगाल की मुख्यमंत्री ममजा बनर्जी को चार प्रतिशत और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती को दो प्रतिशत वोट मिला है।सवेर्क्षण में भारतीय जनता पार्टी ने भी अच्छा समर्थन हासिल किया है, खासकर हिंदी पट्टी के राज्यों में पार्टी के प्रति समर्थन बना हुआ है। हिंदी पट्टी के राज्यों और पश्चिमी भारत के लोगों ने मोदी सरकार को काफी नंबर दिए। वहीं क्षेत्रीय पार्टियों के प्रति संबंधित राज्यों के लोगों ने जबरदस्त विश्वास दिखाया है। ये राज्य तमिलनाडु, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, केरल, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना हैं।

पीएमओ सबसे ज्यादा विश्वसनीय संस्थान

सर्वेक्षण के अनुसार, सार्वजनिक संस्थानों में भारतीयों ने सबसे ज्यादा विश्वास प्रधानमंत्री कायार्लय (75 प्रतिशत) पर जताया है। उसके बाद सर्वोच्च न्यायालय (73 प्रतिशत) और फिर संसद (72 प्रतिशत) पर भरोसा जताया गया है। केवल 53 प्रतिशत लोगों ने ‘मुख्य विपक्षी पार्टी’ पर विश्वास जताया।सर्वे के अनुसार, बढ़ती महंगाई, रोजगार के अवसर, भ्रष्टाचार और कानून व्यवस्था वोटर्स के लिए ज्वलंत मुद्दे हैं। ज्यादातर वोटर्स इन मुद्दों के निपटारे के लिए बीजेपी पर भरोसा करते हैं। इन लोगों का मानना है कि अगर बीजेपी को इसबार भी सरकार बनाने का मौका दिया जाए, तो ये समस्याएं सुलझाई जा सकती हैं।