105 साल की सबसे उम्रदराज ‘छात्रा’ की मौत, पीएम मोदी ने की थी तारीफ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केरल में साक्षरता परीक्षा पास करने वाली सबसे बुजुर्ग महिला भागीरथी अम्मा का 107 साल की उम्र में निधन हो गया। 105 साल की उम्र में उन्होने साक्षरता परीक्षा उत्तीर्ण की थी। शिक्षा के प्रति उनके झुकाव और समर्पण की प्रशंसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मन की बात कार्यक्रम में की थी।

MP में केंद्र के समान DA-वेतनवृद्धि की मांग तेज, कर्मचारी बोले- सरकार ने 500 करोड़ बचाए

भागीरथी अम्मा कोल्लम जिले के प्रक्कुलम की निवासी थीं और उन्हें महिला सशक्तिकरण की दिशा में योगदान के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रतिष्ठित नारी शक्ति पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था। साल 2019 में केरल राज्य साक्षरता मिशन (KSLM) द्वारा आयोजित 4थी कक्षा की की समकक्ष परीक्षा को पास करके वालीं वे सबसे उम्रदराज छात्रा बनीं थी और एक इतिहास रचा था। उन्होंने 275 से 205 अंक प्राप्त किए थे और गणित में उन्हें पूरे अंक मिले थे। भागीरथी अम्मा ने सालों पहले 9 साल की उम्र में तीसरी कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी।