नये वैरिएंट ओमिक्रॉन का असर, बदल सकता है 15 दिसंबर से इंटरनेशनल उड़ान शुरू करने का फैसला

डेस्क रिपोर्ट। कोरोना के नये वैरिएंट ओमिक्रॉन ने एक बार फिर इंटरनेशनल फ्लाइटस की उड़ान पर संशय पैदा कर दिया है, कोरोना संक्रमण के कारण पिछले साल बंद की गईं इंटरनेशनल उड़ान 15 दिसंबर से दोबारा शुरू करने का फैसला बदल भी सकता है। रविवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नए वैरिएंट को लेकर इमरजेंसी मीटिंग की। बैठक में कहा गया कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण दुनिया भर में बन रहे हालात पर कड़ी नजर रखी जा रही है। इसके आधार पर ही उड़ान शुरू करने के फैसले को रिव्यू किया जाएगा। PM नरेंद्र मोदी ने शनिवार को बैठक बुलाकर इस फैसले का रिव्यू करने को कहा था। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रविवार को नए कोरोना वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर इमरजेंसी मीटिंग की। होम सेक्रेटरी की चेयरमैनशिप में आयोजित मीटिंग में कहा गया कि इंटरनेशनल कमर्शियल फ्लाइट्स को दोबारा शुरू करने की तारीख को रिव्यू किया जाएगा। यह इस पर निर्भर करेगा कि आने वाले दिनों में अलग अलग देशों में हालात कैसे रहते हैं।

एक परिवार की खुशी पांच बच्चों के लिए बनी संकट, विस्फोट में घायल, एक की हालत नाजुक

वही जानकारों की माने तो ओमिक्रॉन बेहद खतरनाक वैरिएंट है, जो वैक्सीन के प्रभाव को भी चकमा दे सकता है।ओमिक्रॉन कितना खतरनाक हो सकता है, इसे लेकर दिल्ली AIIMS के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने चौंकाने वाला दावा किया है। उन्होंने बताया है कि इस वैरिएंट के स्पाइक प्रोटीन एरिया में 30 से भी ज्यादा म्यूटेशन हो चुके हैं, जिसके चलते यह वैक्सीन काे भी चकमा दे सकता है। ऐसे में इसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए कि वैरिएंट के खिलाफ वैक्सीन कितनी प्रभावी हैं।