विपक्ष के शोर शराबे के बीच लोकसभा में ये संशोधन विधेयक स्वीकार

वित्त मंत्री ने इन संस्थानों के कामकाज में हस्तक्षेप करने के प्रयास से संबंधित विपक्षी सदस्यों के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। चार्टर्ड एकाउंटेंट, लागत एवं संकर्म लेखापाल तथा कंपनी सचिव संशोधन विधेयक (The Chartered Accountants, the Cost and Works Accountants and the Company Secretaries (Amendment) Bill, 2021) को आज लोकसभा ने मंजूरी दी। कुछ विपक्षी सांसदों की अस्वीकृति के बावजूद लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने विधेयक के पक्ष में हाँ बोलने वालों के आधार पर संशोधन विधेयक को।

वित्त एवं कारपोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने कहा कि चार्टर्ड एकाउंटेंट, लागत एवं संकर्म लेखापाल तथा कंपनी सचिव से संबंधित तीनों संस्थान अलग-अलग काम करते हैं। इन तीनों संस्थानों के संचालन के संबंध में एक विधान लाने का कोई प्रस्ताव नहीं है और वे अलग अलग कानूनों के तहत कामकाज करते रहेंगे।

ये भी पढ़ें – घूमने के शौक़ीन हैं तो IRCTC के ये टूर पैकज आपके लिए हैं बेहतर ऑप्शन

वित्त मंत्री ने इन संस्थानों के कामकाज में हस्तक्षेप करने के प्रयास से संबंधित विपक्षी सदस्यों के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि सरकार का इन तीनों संस्थानों के कामकाज में हस्तक्षेप करने या इन्हें कमतर करने का कोई इरादा नहीं है और न ही ऐसा कोई प्रस्ताव है। उन्होंने कहा कि ये संस्थान पहले की तरह काम करते रहेंगे। शुल्क के विषय पर भी ये पहले की तरह कामकाज करते रहेंगे।

 ये भी पढ़ें – सुरक्षा की दृष्टि से भारत हुआ और शक्तिशाली, सतह से हवा में लक्ष्य को भेदने में मिली कामयाबी