तमिलनाडु में RSS नेता के घर पेट्रोल बम फेंककर आरोपी हुआ फरार, एक ही दिन में दूसरी घटना

तमिलनाडु के मदुरई से घटना सामने आई है। जिसमें एक RSS नेता के घर पर अज्ञात बदमाश ने बम से हमला कर दिया जिसके बाद

चेन्नई, डेस्क रिपोर्ट | इन दिनों देश में क्राइम की घटना काफी हद तक बढ़ चुके हैं जो आए दिन कोई-ना-कोई घटना को अंजाम देते हैं। बता दें कि ऐसी ही एक घटना तमिलनाडु के मदुरई से घटना सामने आई है। जिसमें एक RSS नेता के घर पर अज्ञात बदमाश ने बम से हमला कर दिया जिसके बाद वह मौके से फरार हो गए। तो आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला…

यह भी पढ़ें – मंदसौर बयान पर पंडित प्रदीप मिश्रा ने मांगी माफी, कहा- बेटियों को आहत करना नहीं था उद्देश्य

इन दिनों राज्य में RSS से जुड़े सदस्यों को टारगेट किया जा रहा है। बता दें कि मदुरई के पट्टानाडी आदि इलाके में घटित यह पहली घटना नहीं बल्कि एक ही दिन में घटी दूसरी घटना है। जिससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसी साजिश के तहत इस घटना को अंजाम दिया जा रहा है। दरअसल, मदुरई के रहने वाले नेता कृष्णन जोकि RSS के सदस्य हैं उनके घर पर पेट्रोल बम फेंका गया। जिसकी पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। जिसमें साफ तौर पर देखा गया कि एक व्यक्ति हाथ में 3 बम लिए उनके घर पर उसे फेंक कर मौके से फरार हो गया।

यह भी पढ़ें – CG Weather: मानसून द्रोणिका के प्रभाव से बदला मौसम, कई जिलों में बारिश के आसार, जानें विभाग का पूर्वानुमान

इससे पहले तमिलनाडु के कुनियामुथुर में भाजपा कार्यकर्ता के घर पर भी पेट्रोल बम फेंक कर हमला किया गया। इस घटना में कार्यकर्ता की कार बुरी तरह डैमेज हो गई। बता दें कि उस से 1 दिन पहले भाजपा कार्यालय में भी पेट्रोल से भरी बोतलें फेंकी गई जिसमें चिंगारी थी और ऐसी घटना का शिकार केवल तमिलनाडु ही नहीं बल्कि केरल भी हो रहा है।भाजपा नेताओं को अपना शिकार बनाया जा रहा है। वहीं, पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर फरार आरोपी की तलाश में जुट गई है। साथ ही नेताओं की सुरक्षा के लिए भारी पुलिस दल को तैनात कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें – लाखों कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, मंत्रालय ने जारी किया आदेश, सेवानिवृति पर इस तरह मिलेगा लाभ

दरअसल, ऐसी घटनाओं के पीछे पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के तहत कार्रवाई और छापेमारी वजह बताई जा रही है। बता दें कि इन दिनों NIAने 22 सितंबर को 15 राज्यों में एक साथ छापेमारी की थी। इस दौरान बहुत सारे पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था। जिनके पास से आपत्तिजनक सामग्री समेत कुछ अहम दस्तावेज पाए गए। जिसके आधार पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। जिन्हें कोर्ट में पेश किया जा रहा है। वहीं, इस मामले में ED ने बताया है कि, गिरफ्तार आरोपियों को कई माध्यमों में राशि मिली थी, जिसका इस्तेमाल गलत कामों के लिए किया जा रहा था। यह एक चैनल के जरिए किया जा रहा है। जिसमें अभी और भी कई बड़े नेटवर्क सामने आ सकते हैं।

यह भी पढ़ें – MPPSC : उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर, 477 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी, जानें पात्रता और नियम