आज वायुसेना के बेड़े में शामिल होगा लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर, ये है खासियत

आज भारतीय वायुसेना के बेड़े में पहले लड़ाकू स्वदेशी हेलीकॉप्टर को शामिल किया जाएगा।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) के बेड़े में आज पहला स्वदेशी लड़ाकू हेलीकॉप्टर शामिल होने वाला है। ये भी कहा जा सकता है कि भारतीय वायुसेना की ताकत में इजाफा होने जा रहा है। आज देश में ही विकसित किए गए लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (Light Combat Helicopter) को आधिकारिक रूप से वायुसेना में शामिल किया जाने वाला है। मिसाइल से लैस ये हेलीकॉप्टर हथियारों का बेहतरीन तरीके से इस्तेमाल कर सकता है।

आज वायुसेना के बेड़े में शामिल होगा लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर, ये है खासियत

लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर की विशेषताएं

लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (Light Combat Helicopter) को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने तैयार किया है। हेलीकॉप्टर को खासतौर पर ऊंचाई वाले क्षेत्रों में तैनात करने के लिए विकसित किया गया है। इस हेलीकॉप्टर में 2 लोग बैठ सकते हैं।

लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर का वजन 5.8 टन है और इसमें कई मिसाइल और हथियार सेट किए जा सकते हैं। 550 किलोमीटर रेंज का यह हेलीकॉप्टर 51.10 फीट लंबा और 15.5 फीट ऊंचा है और 268 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ान भर सकता है।

हेलीकॉप्टर में दो इंजन फिट किए गए हैं और इसके जरिए हथियारों का इस्तेमाल भी करके देख लिया गया है। यह रडार से बचने में भी सक्षम है और बख्तर सुरक्षा प्रणाली के साथ रात में लड़ने में सक्षम है। आपातकालीन स्थिति में इसे सुरक्षित उतारा जा सकता है।

हेलीकॉप्टर 6500 फिट की ऊंचाई तक जा सकता है और एक बार में 3 घंटे 10 मिनट तक हवा में रह सकता है। यह हवा से जमीन और हवा से हवा में हमला करने में सक्षम है। इसमें ग्रेनेड लॉन्चर और अनगाइडेड बम फिक्स किए जा सकते हैं।

इस साल जब सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडल समिति की बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई थी उस समय देश में ही विकसित किए गए लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर को 3887 करोड़ में खरीदने की मंजूरी दी गई थी। कुल 15 हेलीकॉप्टर खरीदे जाने हैं जिनमें से वायु सेना में और 5 थल सेना में शामिल होंगे। आज जोधपुर में वायु सेना एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में इसे सेना के बेड़े में शामिल किया जाएगा।