लॉकडाउन
लॉकडाउन

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी है और पुणे में स्थिति बेहद भयावह है। यहां संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है जिसके बाद प्रशासन ने यहां रोजाना 12 घंटे का कर्फ्यू (Curfew) लगाने का फैसला लिया है। इधर छत्तीसगढ़ के दुर्ग में बढ़ते संक्रमण के बाद 6 से 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन (Total Lockdown) का फैसला लिया गया है।

ये भी देखिये – रंगपंचमी पर MP में टूटे सारे रिकॉर्ड, 2777 नए कोरोना पॉजिटिव, 16 ने तोड़ा दम

पुणे में 7 दिन के लिए रोजाना 12 घंटे का बंद

पुणे में ये कर्फ्यू (Curfew) रोज शाम को 6 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। एक सप्ताह तक दोपहर में भी धारा 144 लागू रहेगी। इस दौरान 7 दिनों तक होटल, बार, रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल, थियेटर पूरी तरह बंद रहेंगे। शहर के सभी धार्मिक स्थल भी सात दिनों के लिए बंद रहेंगे और इस दौरान बसों के पहिये भी थमे रहेंगे। सभी सामाजिक और राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक रहेगी। इस दौरान पूर्व निर्धारित शादी समारोह में केवल 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी। वहीं 30 अप्रैल तक सभी स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे। सात दिन तक 12 घंटे के कर्फ्यू के बाद स्थिति का जायजा लेने के बाद आगे के लिए कोई फैसला लिया जाएगा।

दुर्ग में टोटल लॉकडाउन

वहीं छत्तीसगढ़ के दुर्ग में टोटल लॉकडाउन (Total Lockdown) का ऐलान कर दिया गया है। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश के मुताबिक 6 अप्रैल से लेकर 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान पिछली बार के लॉकडाउन के समान ही सारे नियम लागू होंगे। लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने ये फैसला लिया है। कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने लोगों से घरों में ही रहने की अपील की है। इस दौरान इमरजेंसी सुविधाएं शुरू रहेंगी। वहीं वैक्सीनेशन कार्यक्रम भी जारी रहेगा।