त्रिपुरा में हिंसा जारी, मस्जिद के बाद अब मंदिरों में आगजनी और तोड़फोड़, ABVP नेता पर हमला

त्रिपुरा, डेस्क रिपोर्ट। त्रिपुरा के कुछ इलाकों में बीते दिनों से तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। उत्तर त्रिपुरा जिले में मंगलवार को विश्व हिंदू परिषद की एक रैली के दौरान चमटीला इलाके में मस्जिद में तोड़फोड़ और दो दुकानों में आग लगाने का मामला शांत नहीं हुआ था जिसके बाद अब शुक्रवार को दो अलग-अलद जगहों पर असमाजिक तत्वों द्वारा शांति भंग करने का प्रयास किया गया। उनाकोटी पुलिस ने बताया कि कैलाशहर में शुक्रवार को अज्ञात बदमाशों ने लक्ष्मीपुर में काली मंदिर में तोड़फोड़ की, वहीं एनएसयूआई और तृणमूल छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा एबीवीपी नेता पर हमला किया गया। जिसके बाद लक्ष्मीपुर और कैलाशहर में धारा 144 लागू कर दी गई।

ये भी पढ़ें- विदेश में रहने वाले पेंशनभोगी पूरा करें यह काम वरना रुक जाएगी पेंशन, सामने आया बड़ा अपडेट

आपको बता दें, बांग्लादेश के कुमिल्ला ज़िले में एक पूजा पंडाल में कथित तौर पर मुसलमानों की पवित्र पुस्तक क़ुरान की बेअदबी के बाद हिंसा भड़क गई थी, जिसके बाद बांग्लादेशी हिंदुओं के धर्मस्थलों, घरों और कारोबार पर हिंसा व तोड़-फोड़ की गई थी। वहीं बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा का विरोध करने के लिए त्रिपुरा में विश्व हिंदू परिषद ने रैली निकाली थी जिसमें रैली के दौरान चमटिल्ला इलाके में एक मस्जिद में तोड़फोड़ की गई और दो दुकानों में आग लगा दी गई थी। खबरों को मुताबिक त्रिपुरा के कुछ क्षेत्रों में कम से कम एक दर्जन मस्जिदों में तोड़फोड़ और आग लगा दी गई थी। कई जगहों पर मुसलमानों के घरों और कारोबारों पर हमला किया गया था। जिसके बाद अब विरोध में शुक्रवार को कैलाशहर के कुब्झार क्षेत्र में एक काली मंदिर में अज्ञात बदमाशों के समूह के तोड़फोड़ करने और एक दूसरी घटना में शुक्रवार को ही कैलाशहर में एनएसयूआई और तृणमूल छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं ने एबीवीपी के एक नेता पर हमला करने के मामले सामने आए हैं जिसके बाद बाद क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी गयी है। त्रिपुरा में अब भी हिंसा और तनाव का माहौल बना हुआ है।