शादी के दो दिन बाद दूल्हे की मौत, 95 मेहमान हो गए कोरोना पॉजिटिव

पटना: अनलॉक 1.0 (Unlock 1.0) के बाद कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है| इसका बड़ा कारण लोगों का अब नियमों का पालन न करना और सतर्कता न बरतना पता चलता है| लापरवाही कितना बड़ा खतरा खड़ा कर सकती है| इसका ताजा उदाहरण बिहार में सामने आया है| राजधानी पटना (Patna) के एक गांव पालीगंज (Paliganj) में एक शादी समारोह (Marriage Ceremony) में कोरोना का विस्फोट हुआ| यहां बीमार होने के बाद भी दूल्हे का विवाह कराया गया| शादी करने के दो दिन बाद 30 साल के दूल्हे की मौत हो गई। दूल्हा गुरुग्राम में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। वहीं शादी में आये 95 लोग संक्रमित पाए गए हैं|

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह गांव पटना से 50 किलोमीटर दूर है। यहां बीमार होने के बाद भी कोरोना संक्रमित दूल्हे अनिल का विवाह कराया गया। शादी के दो दिन बाद ही उसने दम तोड़ दिया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पालीगंज ब्लॉक के कई गांव को सील किया गया है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के कर्मी लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों से घर में रहने और बाजार में भीड़ न इकट्ठा करने की अपील कर रहे हैं।

प्रशासन ने कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग शुरू की। तो एक के बाद एक कर 95 कोरोना वायरस की चपेट में पाए गए। इसके साथ ही यह बिहार का पहला ऐसा मामला बन गया है जिसमें वायरस का इतने बड़े स्तर पर फैलाव हुआ है। वहीं हैरान करने वाली बात यह है कि दूल्हे का अंतिम संस्कार बिना कोरोना टेस्ट के ही कर दिया गया जबकि पहले से उसमें कोविड-19 के लक्षण थे| शादी के 2 दिन बाद ही उसकी तबीयत काफी बिगड़ गई और पटना एम्स ले जाने के दौरान ही उसकी मौत हो गई | जिला प्रशासन को जब इस बात की सूचना लगी तो शादी में शरीक हुए सभी मेहमानों की कोरोना जांच कराई गई| जांच के बाद 15 लोग संक्रमित पाए गए और अन्य 80 लोगों का रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई|

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह शादी समारोह 15 जून को संपन्न हुआ था और शादी के दो दिन बाद ही दूल्हे की मौत हो गई| दूल्हे में पहले से ही कोरोना के लक्षण थे| पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर मृतक गुड़गांव से 12 जून को ही गांव पहुंचा था|