उमर खालिद हुआ गिरफ्तार, दिल्ली में दंगे भड़काने का था आरोप

दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। दिल्‍ली में दंगों से जुड़े एक मामले में जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के पूर्व छात्रनेता उमर खालिद (Umar Khalid) को दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) के तहत गिरफ्तार कर लिया है। बीते फरवरी में ये हिंसा हुई थी, जिसमें 53 लोगों की मौत हो गई थी। दरअसल, रविवार को पूछताछ के लिए उमर खालिद को स्पेशस सेल के लोधी कॉलोनी वाले ऑफिस में तलब किया गया था, जिसके बाद 11 घंटे तक चली पूछताछ के बाद खालिद को गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं आज खालिद को न्यायालय में पेश किया गया। बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ फरवरी में विरोध प्रदर्शन के दौरान उत्तर पूर्वी दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई थी, जिसमें 53 लोगों की मौत हो गई थी वहीं सैंकड़ों लोग घालय हुए थे।

वहीं इस पूरे मामले में उमर खालिद के पिता सैयद कासिम रसूल ने कहा कि उनके बेटे को स्पेशल सेल ने रात 11 बजे गिरफ्तार किया है। पुलिस उससे दोपहर 1 बजे से पूछताछ कर रही थी। आगे उन्होंने कहा कि उनके बेटे को फसाया गया है। बता दें कि उमर खालिद के गिरफ्तार होने के कुछ देर बाद ही ट्वीटर पर #istandwithumar करने लगा।

वहीं उमर खालिद की गिरफ्तारी पर सोशल मीडिया पर रिएक्शन आना शुरु हो गया है। ट्वीटर पर ट्वीट करते हुए प्रकाश राज ने लिखा कि ‘शर्मनाक…अगर हमने इस विच हंट के खिलाफ आवाज नहीं उठाई तो, हमें खुद पर शर्मिंदा होना चाहिए…” साथ ही #StandWithUmarKhalid #FreeUmarKhalid #justasking हैशटैग का भी इस्तमाल किया गया।

 

वहीं वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने उमर खालिद की गिरफ्तारी को लेकर सवाल करते हुए ट्वीट किया कि पुलिस की ओर से जांच की आड़ में शांतिपूर्ण ढंग से विरोध करने वाले कार्यकर्ताओं को फंसाने की ये साजिश है।

आगे प्रशांत भूषण में उमर खालिद को वीडियो शेयर किया है और लिखा है कि “हम हिंसा का जवाब हिंसा से नहीं देंगे। अगर वह दंगा करआएंगे तो हम झंडा लहराएंगे।अगर वह गोली चलाएंगे तो हम संविधान को हाथ में उठाएंगे”। यह है उमर खालिद, जिसको दिल्ली दंगा करवाने के लिए गिरफ्तार किया है। कपिल मिश्रा जैसे लोग जिन्होंने साफ-साफ दंगा भड़काया उनको नहीं।