UP Weather: चक्रवात-WD का असर, 17 जिलों में 48 घंटे बारिश-आंधी-ओलावृष्टि का अलर्ट, 7 जिलों में बढ़ेगा तापमान, मॉनसून पर अपडेट, जानें IMD पूर्वानुमान

up weather

UP Weather, IMD UP Weather : मौसम में बदलाव जारी है। लगातार तापमान में गिरावट देखी जा रही है। बारिश के बाद मौसम सुहावना हुआ है। आगामी 36 घंटे में कई क्षेत्रों में बारिश देखी जा सकती है। हापुड़ जिले में मंगलवार देर रात को मौसम का मिजाज बदल गया है। तेज आंधी के साथ रुक-रुक कर बारिश गर्मी से लोगों को राहत मिली है। बुधवार को कई क्षेत्रों में बारिश देखी गई है। उत्तर प्रदेश के 17 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

17 जिलों में बारिश का अलर्ट

बुधवार गुरुवार सुबह आसमान में बादल छाए हुए हैं। मौसम सुहावना बना हुआ है। बुधवार तक रुक-रुक कर बारिश हो रही है। किसानों को भी बारिश से लाभ मिल रहा है। 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का पूर्व अनुमान जारी किया गया है। पिछले 1 सप्ताह से भीषण गर्मी चल रहे उत्तर प्रदेश के वासियों को गुरुवार से गर्मी से राहत मिलने वाली है। आसमान में बादल छाए रहे हैं।

मौसम प्रणाली

कुछ क्षेत्रों में बारिश हो सकती है। फिलहाल तापमान 42 डिग्री सेल्सियस है। जिसके घटकर 38 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना जताई गई है। 20 से 30 किलोमीटर की रफ्तार से हवा भी चल रही है। लखनऊ मौसम केंद्र के वैज्ञानिक का कहना है कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहे चक्रवात का असर उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों पर देखने को मिल सकता है। गुरुवार को पश्चिम उत्तर प्रदेश और पूर्वी उत्तर प्रदेश में गरज चमक के साथ बारिश रिकॉर्ड की जा सकती है। वहीं पश्चिम उत्तर प्रदेश में 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी।

तापमान में 3 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड

राजधानी लखनऊ में तापमान में 3 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। राजधानी में काले बादलों की आवाजाही जारी है। ठंडी हवा चल रही है। काले बादल से आसमान घिरे हुए है। मौसम सुहावना नजर आ रहा है। अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस सकता है जबकि न्यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस रहने का पूर्वानुमान जारी किया गया है।

इन क्षेत्रों में तापमान

लखनऊ में न्यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा सकता है जबकि कानपुर में अधिकतम तापमान 41 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान के 22 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का पूर्वानुमान जताया गया है। बनारस में अधिकतम तापमान 40 डिग्री जबकि झांसी में अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक रह सकता है। प्रयागराज-आगरा में भी तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी।

तेज आंधी और बारिश रिकार्ड

इससे पहले आगरा में बुधवार को दोपहर के बाद तेज आंधी और बारिश रिकार्ड की गई थी।10 मिनट तक ओलावृष्टि भी देखने को मिली। कुछ लोगों को गर्मी से राहत मिली है। वहीं झांसी में भी देर शाम बारिश रिकॉर्ड की गई है। तेज हवा चल रही है। बरेली में काले बादल घिरे हुए हैं। लखनऊ में भी काले बादलों का दौर जारी है। कानपुर और बनारस समेत 33 जिलों में प्री मानसून का अलर्ट जारी किया गया है। धूल भरी आंधी चल सकती है। कुछ स्थानों पर बिजली गिरने का भी पूर्व अनुमान जताया गया है।

मानसून को लेकर चौंकाने वाली खबर

हालांकि मानसून को लेकर इस बार खबर थोड़ी चौंकाने वाली है। दरअसल मानसून में देरी देखने को मिल सकती है। उत्तर प्रदेश में 8 जून तक मानसून की एंट्री बताई जा रही है। केरल में मानसून 4 दिन लेट पहुंचने के बाद इसका असर उत्तर प्रदेश में भी दिखेगा। उत्तर प्रदेश में 8 से 10 जून के बीच में मानसून की एंट्री हो सकती है। मानसून सामान्य रहने का पूर्वानुमान जारी किया गया है। बंगाल की खाड़ी में एक रेखा रुकने की संभावना जताई गई है जबकि दक्षिण पश्चिम हवाएं चल सकती है। जिसके कारण पूर्वोत्तर भारत में बहुत भारी बारिश का अनुमान जताया गया है।


About Author
Kashish Trivedi

Kashish Trivedi

Other Latest News