UP Weather: फिर बदलेगा मौसम, एक्टिव होगा नया सिस्टम, कई जिलों में बारिश के आसार, जानें विभाग का पूर्वानुमान

8 और 9 सितंबर को कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ मध्यम के साथ भारी बारिश होने के आसार हैं।खास करके पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश होने के संकेत हैं।

up Weather,

लखनऊ, डेस्क रिपोर्ट। अगले 48 घंटों में एक बार फिर उत्तर प्रदेश में मौसम में बदलाव के आसार है। 7 सितम्बर से मानसून के दोबारा एक्टिव होने की संभावना है, इससे 8-9 सितंबर को बारिश हो सकती है। आज मंगलवार 6 सितंबर को यूपी के एक दर्जन जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।प्रदेश में बारिश का दौर अभी 3-4 दिन और बना रह सकता है। सितंबर में पूरे यूपी में औसत बारिश सामान्य से 110 प्रतिशत अधिक होने की संभावना जताई गई है। अक्टूबर से पहले मानसून के विदा होने के भी संकेत है।

यह भी पढ़े..CG Weather: बुधवार को एक्टिव होगा नया सिस्टम, कई जिलों में बारिश के आसार, जानें मौसम विभाग का पूर्वानुमान

मौसम विभाग (UP Weather Forecast) के अनुसार, गंगानगर से गोरखपुर दरभंगा जोरहाट से होकर नागालैंड की ओर मानसून की ट्रफ लाइन बढ़ रही है, 8 और 9 सितंबर को कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ मध्यम के साथ भारी बारिश होने के आसार हैं।खास करके पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश होने के संकेत हैं। वही बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है।

मौसम विभाग ने दो दिन तक प्रदेश के एक दर्जन से ज्यादा जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है। 9 और 10 सितंबर को गरज के साथ बारिश के आसार बन रहे हैं। इस साल माॅनसून शुरू होने से अब तक 44 प्रतिशत बारिश कम हुई है। सितंबर में पूरे यूपी में औसत बारिश सामान्य से 110 प्रतिशत अधिक होने की संभावना जताई गई है।वाराणसी, गाजीपुर और प्रयागराज जैसे जिलों में गंगा के उफनाने से बाढ़ का खतरा बढ़ गया है।

यह भी पढ़े..कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, सेवानिवृत्ति और अनुकंपा नियुक्ति मामले पर सुप्रीम कोर्ट का अहम निर्णय

लखनऊ में बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश हो सकती है। वाराणसी में मंगलवार को आसमान में हल्के बादल नजर आने की संभावना है।आगरा में अगले पांच दिन तक बारिश के कोई आसार नहीं हैं। 11 को आंशिक बादल छाए रहने के साथ एक या दो बार बौछार पड़ सकती हैं। प्रयागराज में भी मौसम साफ रहेगा।अलीगढ़ में भी मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है। गोरखपुर जून, जुलाई, अगस्त बीते तीन माह में करीब 540 मिलीमीटर वर्षा हुई है। औसत वर्षा के सापेक्ष यह 65 प्रतिशत से भी कम है।