उत्तराखंड बस हादसा : स्टेयरिंग फेल नहीं हुआ था बस का, ARTO की तकनीकी जांच में हुआ खुलासा

 डेस्क रिपोर्ट। पन्ना जिले से उत्तराखंड की चार धाम यात्रा के लिए निकले 26 तीर्थयात्रियों से भरी बस के हादसे का शिकार होने के मामलें में खुलासा हुआ है कि बस का स्टेयरिंग फेल नहीं हुआ था, हालांकि फिर दुर्घटना का कारण क्या था इसकी असल वजह सामने नहीं आ पाई है। इस हादसे में 26 लोगों की मौत हुई थी, यह सभी लोग मध्यप्रदेश के पन्ना जिलें से चार धाम की यात्रा पर गए बुजुर्ग थे, 5 जून को हुए इस हादसे में बस उत्तराकाशी के पहाड़ से खाई में गिर गई थी, तकनीकी जांच में यह सामने आया है कि बस की स्टेयरिंग में कोई प्रॉब्लम नहीं थी, माना जा सकता है कि उसकी स्टीयरिंग फेल नहीं हुई होगी। हादसे की वजह कुछ और है, रिपोर्ट मजिस्ट्रेट (एसडीएम) को भेज दी गई है।

यह भी पढ़ें…. CG Weather: छत्तीसगढ़ में मानसून का प्रवेश, कई जिलों में बारिश की चेतावनी, बिजली गिरने का भी अलर्ट

हालांकि इस हादसे के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष उत्तराखंड पहुंचे थे खुद सीएम शिवराज घटनास्थल पर गए थे और हादसे में घायल ड्राइवर से उन्होंने बातचीत की थी जिसमें ड्राइवर ने बताया था कि गाड़ी के स्टेयरिंग के अचानक फेल होने के चलते यह हादसा हुआ था लेकिन अब जांच रिपोर्ट में इस वजह को नकार दिया है,  हादसे में बचे एकमात्र दंपती पन्ना के चिखला गांव के उदय सिंह और उनकी पत्नी हक्की राजा का उत्तरकाशी के प्राइवेट अस्पताल में अभी भी इलाज चल रहा है। उनकी हालत खतरे से बाहर है। फिलहाल जांच रिपोर्ट में हादसे की वजह स्टेयरिंग फेल होने होना नहीं है वही हादसे में बचे दम्पत्ति की माने तो ड्राइवर बहुत तेज गाड़ी चला रहा था उसे कई बार यात्रियों ने टोका भी था लेकिन उसने सभी की बातों को अनसुना कर दिया था, इस दम्पत्ति की माने तो ड्राइवर ने यह भी बताया था कि वह पिछले कुछ दिनों से आराम नहीं कर पाया है और लगातार इस रास्ते पर गाड़ी चला रहा है, माना जा रहा है कि नींद की झपकी ने इस हादसे की वजह हो सकती है फिलहाल जांच रिपोर्ट उत्तराखंड में संबंधित विभाग को सौंप दी गई है।