Vikram-S Launched: इसरो की बड़ी सफलता, लॉन्च किया भारत का पहला प्राइवेट रॉकेट, जानें इससे जुड़ी कुछ खास बातें

इसरो ने शुक्रवार को अपना पहला प्राइवेट रॉकेट लॉन्च कर दिया है। इस नए रॉकेट का नाम "विक्रम-एस" दिया गया है। इसका नाम वैज्ञानिक और इसरो के संस्थापक डॉ विक्रम साराभाई से प्रेरित है।

Vikram-S Launched: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने आज एक नया इतिहास रच दिया है। भारत से पहली बार खुद का प्राइवेट रॉकेट लॉन्च हो चुका है और 18 नवंबर 2022 सुबह 11:30 बजे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से अंतरिक्ष की ओर भेजा गया है। इसरो के इस नए रॉकेट का नाम “विक्रम-एस” दिया गया है। इसका नाम डॉ विक्रम साराभाई से प्रेरित है, जो एक महान वैज्ञानिक और इसरो के संस्थापक थे।

इसरो ने दी जानकारी

इस नए रॉकेट को “मिशन प्रारंभ” के अंतर्गत लॉन्च किया गया है। इस बात की जानकारी खुद इसरो ने ट्विट करके दी है। बता दें की विक्रम-एस इसरो और इन-स्पेस के सपोर्ट के साथ Skyroot Aerospace द्वारा बनाया गया है। यह हैदराबाद की एक स्टार्टअप कंपनी है।

रॉकेट की खासियत

इस रॉकेट रॉकेट का मास 556 किलोग्राम, लंबाई 8 मीटर, डायमीटर 0.376 मीटर है। इसका निर्माण कम्पॉजिट  मटेरियल ऑल कार्बन फाइबर कोर स्ट्रक्चर से किया गया है। इसमें 3D प्रिंटेड इंजन स्पाइन स्टैबिलिटी के साथ जोड़ा गया है। कंपनी ने दावा किया है कि इस केटेगरी में यह दुनिया का सबसे सस्ता रॉकेट है। 200 इंजीनियरों की टीम ने रात-दिन इसे बनाने में काम किया है। इसके निर्माण को खत्म करने में करीब 2 साल का समय लगा।