ममता बनर्जी बनी रहेंगी बंगाल की मुख्यमंत्री, 58 हजार से वोटों से जीती, TMC में जश्न

यह जीत ममता बनर्जी के लिए बेहद जरूरी है और पश्चिम बंगाल का भविष्य में ममता बनर्जी की जीत तय करेगी।

ममता बनर्जी

कोलकाता, डेस्क रिपोर्ट। ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee)  बनी रहेंगी, पश्चिम बंगाल की(West Bengal Bypoll Results)  में सबसे महत्वपूर्ण भवानीपुर विधानसभा से उन्होंने अपनी निकटतम प्रतिद्वंदी बीजेपी (West Bengal BJP) की प्रियंका टिबरेवाल(Priyanka Tibrewal) को 58832 हजार वोटों से हराकर जीत हासिल कर ली है, जिसके बाद टीएमसी में जश्न का माहौल है।

यह भी पढ़े.. MP में लापरवाही पर पंचायत सचिव-शिक्षक निलंबित, 5 को नोटिस, वेतन वृद्धि रोकी!

दरअसल, हाल ही में हुए पश्चिम बंगाल  विधानसभा चुनाव (west bengal assembly elections) में मुख्यमंत्री  बनर्जी नंदीग्राम विधानसभा सीट से बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी (Subhendu Adhikari) से हार गई थी, लेकिन बावजूद इसके ममता बनर्जी ने 4 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, ऐसे में  संविधान किसी व्यक्ति को राज्य विधायिका या संसद के दो सदनों के लिए चुने बिना केवल छह महीने तक मंत्री पद पर रहने की अनुमति देता है।

यह अनिवार्य करता है कि एक मंत्री को, जो लगातार छह महीने तक विधायिका का सदस्य नहीं है, उस अवधि की समाप्ति पर पद से हटना होगा, इसलिए यह जरूरी है कि ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री के रूप में बने रहने के लिए 4 नवंबर तक विधानसभा का सदस्य बनना अनिवार्य है, इसके बाद ममता भवानीपुर सीट से खड़ी हुई हैं और आज उपचुनाव के नतीजे में ममता बनर्जी ने 58 हजार वोटों से जीत हासिल की है।

यह भी पढ़े.. जन्मदिन पर पूर्व विधायक की मौत, पिता की फोटो पर माला चढ़ाते समय आया हार्ट अटैक

यह जीत ममता बनर्जी के लिए बेहद जरूरी थी और पश्चिम बंगाल का भविष्य को देखते हुए ममता बनर्जी की जीत तय मानी जा रही थी. हालांकि भवानीपुर की सीट पर 2011 में तृणमूल कांग्रेस के सुब्रत बक्शी, उसके बाद उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस की ममता बनर्जी, 2016 में ममता बनर्जी ने चुनाव जीता था लेकिन 2021 में ममता बनर्जी ने खुद के बजाय शोभनदेव चट्टोपाध्याय को उम्मीदवार बनाया था जिन्होंने जीत हासिल की थी और आज ममता ने भवानीपुर से जीत हासिल कर बीजेपी को बड़ी शिकस्त दी है।