विंग कमांडर अभिनन्दन के फौजी जज्बे पर पिता को फक्र, देशवासियों के नाम दिया यह भावुक सन्देश

-Wing-Commander-Abhinandan's-father-release-message-to-indians-

नई दिल्ली| पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के साथ झड़प के दौरान पाकिस्तान में गिरे मिग-21 के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान में पाक के कब्जे में है| उन्हें सुरक्षित अपने देश वापस लाने के लिए भारत की ओर से पूरी कोशिश की जा रही है| हर तरह के विकल्पों पर विचार किया जा रहा है| इस बीच बहादुर सोल्जर के पिता ने सभी शुभचिंतकों का धन्यवाद करते हुए देशवासियों के नाम सन्देश जारी किया है| दुश्मन देश में भी अपने बेटे की बहादुरी पर विंग कमांडर अभिनंदन के पिता पूर्व एयर मार्शल एस. वर्द्धमान ने कहा है उन्हें अपने बेटे पर गर्व है| उन्होंने एक भावुक संदेश लिखा है. उन्होंने अपने दोस्तों और चाहने वालों को जरिए यह संदेश देशवासियों तक पहुंचाया है| 

रिटायर्ड एयर मार्शल वर्तमान और उनके पूरे परिवार के लिए यह एक मुश्किल घड़ी है। एयर मार्शल वर्तमान को यह बात भी मालूम है कि देश उनके बेटे लिए प्रार्थना कर रहा है लेकिन साथ ही उन्‍हें कहीं न कहीं दुश्‍मन की नीयत का भी अंदाजा है। रिटायर्ड एयर मार्शल वर्तमान ने अपने मैसेज में कहा है, ‘मेरे दोस्‍तों आपकी चिंता और आपकी शुभकामनाओं के लिए धन्‍यवाद। मैं ईश्‍वर के आशीर्वाद के लिए उसका शुक्रगुजार हूं। अभि जिंदा हैं और घायल नहीं हैं, पूरे होशो-हवास में हैं। अपने बेटे पर फक्र करते हुए पिता आगे लिखते है कि देखो मेरा बेटा कितनी निडरता से बात कर रहा है। एक सच्चे सिपाही की तरह। उन्होंने विश्वास जताया कि सभी शुभचिंतकों की शुभकामनाएं उसके साथ है और वह जल्द सकुशल घरवापसी करेगा। उन्होंने सभी हमदर्दों को धन्यवाद दिया और कहा की ‘इस कठिन घड़ी में उनका साथ और दुआएं हमे ताकत दे रही है।

रिटायर्ड एयर मार्शल ने कहा, ‘मैं बस यही प्रार्थना करता हूं कि उसे टॉर्चर न किया जाए और वह शारीरिक और मानसिक रूप से पूरी तरह से स्‍वस्‍थ हालत में देश वापस लौटे। उसके लिए प्रार्थना करने के लिए आप सभी का शुक्रिया। आपके सपोर्ट से हमें हिम्‍मत और ऊर्जा मिल रही है।’

जवाजों के परिवार से हैं विंग कमांडर अभिनंदन 

विंग कमांडर अभिनंदन जवाजों के परिवार से है जो सभी देश सेवा में रहे हैं| उनकी पत्नी तन्वी मारवाह स्क्वाड्रन लीडर के पद से रिटायर हो चुकी हैं। अभिनंदन के पिता एस वर्तमान वायु सेना में फाइटर पायलट रहे हैं। पिता एस वर्तमान चेन्नई में रहते हैं। अभिनंदन ने अपने पिता के नक्शे कदम पर चलकर 2004 में वायु सेना ज्वॉइन की थी। उनके पिता एस वर्तमान 1973 में फाइटर पायलट बने थे। वे देश के उन चुनिंदा पायलटों में शुमार हैं, जिनके पास 40 तरह के विमान और 4000 घंटे से ज्यादा उड़ान भरने का अनुभव है। वे करगिल युद्ध के दौरान मिराज स्क्वाड्रन के चीफ ऑपरेशन्स ऑफिसर थे। उन्होंने मणिरत्नम की फिल्म कातरू वेलियिदाई के निर्माण में भी मदद की थी। इस फिल्म की कहानी भी वायु सेना के एक पायलट की पाकिस्तान में गिरफ्तारी पर आधारित थी।

 मालूम हो, बुधवार को पाकिस्तान के विमानों ने भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की, जिन्हें सफलतापूर्वक खदेड़ दिया गया। पाकिस्तान के एफ-16 विमान को पीछा करने वालों में भारत का मिग-21 भी था, जिसे वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन उड़ा रहे थे। पाक विमान का पीछा करने के चक्कर में अभिनंदर पीओके में चले गए, जहां उनके विमान पर मिसालइ दागी गई। उनका मिग-21 क्रैश हो गया और वे पैराशूट से बाहर निकल आए, जिसके बाद पाक सेना ने उन्हें पकड़ लिया।