शादी का देख रही थी ख्वाब, प्रेमी ने गला काट कर की हत्या, पुलिस ने किया गिरफ्तार

इंदौर, आकाश धोलपुरे

खजराना पुलिस को एक अगस्त की रात करीब 3 बजे बायपास पर राजबाग गार्डन के पीछे बाघेला फार्म हाउस रोड पर सड़क के किनारे एक युवती का खून से सना शव मिला था। उसके  गले में आरोपी ने धारदार हथियार से जान से मारने की नीयत से वार करके हत्या की थी।

अज्ञात मृतिका की शिनाख्त तथा अज्ञात आरोपी की तलाश की गई। टीम का गठन कर घटनास्थल के आसपास तथा आने-जाने के सभी रास्तों पर लगे सीसीटीवी फुटेज तलाशे गए। आसपास के होस्टलों तथा कामकाजी महिलाओं के कार्यस्थलों पर जाकर अज्ञात मृतक युवती का फोटो दिखाकर तलाश  की गई, पर कोई सुराग नहीं मिला। मृतक युवती  के संबंध में पम्पलेट तैयार करके सोशल मीडिया ग्रुपों पर तथा इंदौर  और आसपास के सभी जिलों में प्रचारित किए गए। युवती का हुलिया देखकर पुलिस अधिकारियों द्वारा उसके निमाड़ क्षेत्र के होने की आशंका को देखते हुए बाहर से आकर इंदौर में रहने वाले लडके-लडकियों के संबंध में जानकारी इकत्रित करने के लिए टीमों को पाबंद किया गया।

इस क्रम में आजाद नगर से खबर मिली कि अज्ञात मृतक युवती के हुलिए वाली एक लड़की तथा एक अन्य लड़की तथा एक लड़के के साथ संयोगितागंज मूसाखेड़ी तथा आजादनगर क्षेत्र में देखे गए थे। लड़की का मूवमेंट लॉक डाउन के बाद से दिखाई नहीं दिया है। इस जानकारी पर उक्त क्षेत्रों में तलाश कराई गई  तथा निमाड़ क्षेत्र खासतौर पर खरगोन, खंडवा, धार, बड़वानी में सोशल मीडिया पर सभी थानों से लगातार संपर्क किया गया। 4 अगस्त मंगलवार को जानकारी मिली कि उक्त मृतक युवती का नाम अनिता पिता बोंदर उर्फ रुपसिंह जमरे निवासी ग्राम दामखेडा थाना चैनपुर जिला खरगोन की है। वह इंदौर  में मूसाखेडी में अपने भाई, बहन के साथ रहती है तथा रोटी बनाने का काम करती है।

मृतक के संबंध में मूसाखेडी में मकान मालिक से पूछताछ की गई तो पता चला कि अनिता के भाई-बहन लॉक डाउन में गांव चले गए थे तथा मृतक अनिता अकेली ही मूसाखेड़ी में रहती है और दो-तीन दिन से गायब है। वह नरेंद्र सोनी नाम के लड़के के साथ अक्सर आती-जाती है। नरेंद्र सोनी छावनी में सेठी अस्पताल के पीछे मदास आटो सर्विस पर काम करता है।

पुलिस ने नरेंद्र सोनी को पकडा तथा उससे पूछताछ की। आरोपी नरेंद्र ने बताया कि अनिता से उसके पिछले एक वर्ष से संबंध थे, वो मद्रास आटो सर्विस छावनी में काम करता था और पास के शर्मा टिफिन सेंटर पर अनिता काम करती थी। तभी से दोनों में पहचान हुई तथा पहचान प्यार में बदल गई। दोनों में अंतरंग संबंध भी हो गए थे। इसी कारण अनिता ने नरेंद्र पर शादी के लिए दबाब बनाया। नरेंद्र उस युवती से शादी नहीं करना चाहता था। 28 जुलाई को अनिता अपना बैग और सामान लेकर रोबोट चौराहे के पास नरेंद्र के घर आ गई थी और साथ रहने के लिए दबाब बनाने लगी।

नरेंद्र ने उसे समझाया फिर भी वह नहीं मानी।  1 अगस्त की रात में अनिता को मोटर सायकल पर बैठाकर नरेंद्र आजाद नगर, मूसाखेड़ी चौराहा, आईटी पार्क, तेजाजी नगर से  वायपास होते हुए वाघेला फार्म हाउस वाले रास्ते पर ले गया। रात में करीब 12 बजे उसने कागज काटने वाले कटर से अनिता का गला काटकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार किया गया है जिसके विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।