कांग्रेस में शामिल नहीं होंगे नेता प्रतिपक्ष के बेटे अभिषेक भार्गव, दिया ये बयान

abhishek-bhargava-claims-fake-post-of-his-joining-congress

भोपाल। एक हफ्ते पहले नेता पुत्रों को टिकट देने की पैरवी करने वाले नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक भार्गव टिकट की दौड़ से बाहर हो गए हैं। उन्होंने खुद दावेदारी वापस लेने का खुलासा सोशल मीडिया पर किया है। इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर उनके कांग्रेस में शामिल होने की खबरे वायरल होने लगी। इसमें वह दिग्विजय सिंह के साथ खड़े नजर आ रहे थे। इस पोस्ट को यह कहकर वायरल किया जा रहा था कि अभिषेक कांग्रेस में शामिल हो सकते है। अभिषेक ने इन ख़बरों का खंडन करते हुए कहा है कि वे मरते दम तक बीजेपी में रहेंगे| 

दरअसल, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने पार्टी से उनके पुत्र को टिकट देने की मांग की थी। पहली लिस्ट में सागर लोकसभा प्रत्याशी को लेकर अभी फैसला नहीं लिया गया है और इस बीच अभिषेक के कांग्रेस में शामिल होने की पोस्ट वायरल की जा रही हैं। रविवार को इसकी जानकारी मिलने के बाद अभिषेक ने एक वीडिया जारी कर उनके कांग्रेस में शामिल होने का खंडन किया और वायरल पोस्ट को फर्जी करार देते हुए मरते दम तक बीजेपी का साथ रहने की बात कही। उन्होंने कहा कि कृपया किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दे। अवसरवादी राजनीति मेरे खून में नही है। भारतीय जनता पार्टी के साथ मरते दम तक रहूंगा। कृपया सभी मित्र शुभचिंतक और समर्थकों से विनम्र अनुरोध है किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वंशवाद को लेकार किए गए ब्लॉग के बाद अभिषेक भार्गव ने लोकसभा चुनाव में टिकट के लिए अपनी दावेदारी वापस ले ली|  अभिषेक ने फेसबुक पर लिखा, ‘आदरणीय मोदी जी और आडवाणी जी के वंशवाद के विरूद्ध दिए गए बयान के बाद स्वयं में अपराधबोध महसूस कर रहा हूं. इतने बड़े संकल्प को लेकर पार्टी राष्ट्रहित में एक युद्ध लड़ रही है और सिर्फ अपने व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए उस संकल्प की सिद्धि के रास्ते मे रुकावट बनूं, यह भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता होने के नाते मेरा स्वाभिमान मुझे इजाजत नहीं देता’ 

भार्गव ने कहा था, बेटा लायक है तो टिकट मिलना चाहिए

अभिषेक का नाम खजुराहो ,दमोह और सागर सीट से चल रहा था, पिछले दिनों भोपाल में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने उनके लिए टिकट की मांग भी की थी तब परिवारवाद के विषय पर भार्गव ने कहा था अगर लायक है तो टिकट मिलना चाहिए उनका साफ कहना था कि नेता का बेटा भीख तो मांगेगा नहीं। इस बीच टिकट के लिए अंतिम फैसला होने से पहले ही अभिषेक इस दौड़ से बाहर हो गए हैं।