देवास पहुंचे कृषि मंत्री, कहा-प्रदेश के किसान मजबूर नहीं मजबूत होंगे

देवास, सोमेश उपाध्याय। किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने आज देवास जिले की खातेगांव विधानसभा क्षेत्र के ग्राम कुसमानिया और बागली विधानसभा क्षेत्र के ग्राम बड़कन में खेतों में जाकर बारिश और कीट से सोयाबीन की फसलों को हुए नुकसान का जायजा लिया।

अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

निरीक्षण के दौरान मंत्री पटेल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रभावित फसलों का तत्काल सर्वे प्रारंभ कर किसानों को नियमानुसार हरसंभव मुआवजा दिलाया जाए। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करने के साथ ही किसानों को भी समझाईश दी कि वे प्रदेश सरकार द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिये बढ़ाई गई आवेदन की तिथि 31 अगस्त तक हर हाल में अपनी फसलों का बीमा करायें। उन्होंने कहा कि किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। प्रदेश सरकार किसानों के साथ है। सरकार किसानों को हुई क्षति का आंकलन कर मुआवजा राशि उपलब्ध करायेगी।

मुख्यमंत्री समझते है किसानों का दर्द

मंत्री कमल पटेल ने ग्राम पंचायत कुसमानिया में आयोजित ग्राम चौपाल में किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसानों का दर्द समझते हैं। प्रदेश सरकार इस संकट की घड़ी में किसानों के साथ खड़ी है। प्रदेश सरकार किसानों की सरकार है। प्राकृतिक आपदा से फसलों को हुए नुकसान के सर्वे में पूर्ण पारदर्शिता रहेगी।

निष्पक्ष तरीके से होगा फसलों का आंकलन 

उन्होंने कहा कि आरआई, पटवारी सर्वे कर पंच-सरपंच से रिपोर्ट पर हस्ताक्षर करायेंगे। एक तरह से यह सर्वे का पंचनामा होगा। सर्वे रिपोर्ट की एक प्रतिलिपि संबंधित किसान को भी प्रदाय की जायेगी। अब किसानों को कहीं जाना नहीं पड़ेगा। गांव में ही अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, आरआई और पटवारी सहित कृषि विभाग के अधिकारी-कर्मचारी फसलों का भौतिक सर्वे करेंगे। फसलों का आंकलन निष्पक्ष तरीके से होगा। प्रदेश के किसान मजबूर नहीं मजबूत होंगे। किसान अपनी फसल सीधे बेच सकेंगे अब बीच में कोई भी बिचौलिया नहीं रहेगा।

लॉकडाउन में सिर्फ किसान काम कर रहे थे

मंत्री कमल पटेल ने कहा कि लॉकडाउन में सब बंद था पर किसान काम कर रहा था। इस संकट की घड़ी में सरकार अन्नदाताओं के साथ खड़ी है। वर्ष 2018-19 की बीमा राशि 4 हजार 500 करोड़ रुपये एक माह में किसानों के खाते में आ जायेगी। आने वाले समय मे सरकार द्वारा प्रयाप्त खाद और बीज उपलब्ध करवाया जाएगा। नर्मदा का पानी सिचाई और पीने के लिए कन्नौद, खातेगांव और बागली के ग्रामों में पहुंचाया जाएगा।

स्मार्ट होंगी कृषि उपज मंडियां

कृषि मंत्री ने कहा कि अब कृषि उपज मंडियों को भी स्मार्ट मंडी के तर्ज पर विकसित किया जायेगा। अब मंडियों में सर्व-सुविधायुक्त वातावरण उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा कई योजनाएं संचालित की जा रही है। किसानों को फसलों का उचित मूल्य प्राप्त हो इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा प्रयास किये जा रहें हैं। मंडी द्वारा अनाज रखने के लिए वेयरहाउस बनाये जाएंगे।

सरकार है किसानों के साथ

निरीक्षण के दौरान मंत्री कमल पटेल ने सतवास से बड़कन के बीच आने वाले गांवों के ग्रामीणों तथा किसानों से भी चर्चा की तथा कहा कि सरकार के आपके साथ है। इस दौरान खातेगांव विधायक आशीष शर्मा, बागली विधायक पहाड़ सिंह कन्नौजे, पूर्व विधायक ब्रजमोहन धुत, कुसमानिया सरपंच महेश परमार, स्थानीय जनप्रतिनिधि, एसडीएम कन्नौद नरेन्द्र धुर्वे, उप संचालक कृषि श्रीमती नीलमसिंह चौहान सहित कृषकगण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here