आचार्य विद्यासागर महाराज के साथ अभद्र व्यवहार और ओवरटेक करने वाला कार चालक गिरफ्तार, जमानत पर हुआ बरी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। जैन धर्म के सबसे बड़े मुनि श्री आचार्य विद्यासागर महाराज के काफिले के करीब से गुजरने वाली गाड़ी को बीती रात पुलिस ने जप्त कर लिया है। साथ ही गाड़ी चला रहे चालक को पकड़कर पुलिस ने डबल चौकी थाने भेज दिया है। पूरे मामले को लेकर डबल चौकी प्रभारी का कहना है कि आरोपी पर जमानती धारा के तहत केस दर्ज किया गया था, जिसके चलते उसे जमानत पर छोड़ दिया गया है।

दरअसल अपने संग और 150 से ज्यादा श्रद्धालुओं के साथ आचार्य विद्यासागर महाराज निवार की ओर विहार कर रहे हैं। इसी दौरान बीते दोपहर एक तेज रफ्तार गाड़ी आचार्य विद्यासागर महाराज के काफिले के काफी करीब से गुजरी। अपनी ओर गाड़ी को गुजरता देख आचार्य श्री सहित चार मुनियों को एक तरफ हटाना पड़ा। वहीं चालक ने आचार्य श्री और मुनियों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए खातेगांव की तरफ निकल गया।

आचार्य विद्यासागर महाराज के साथ अभद्र व्यवहार और ओवरटेक करने वाला कार चालक गिरफ्तार, जमानत पर हुआ बरी

बता दें कि इस घटना में किसी को कोई चोट नहीं आई है। वहीं घटना के बाद श्रद्धालुओं ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डबल चौकी थाने पर वाहन चालक के खिलाफ केस दर्ज कराया। जिसके बाद पुलिस ने बुधवार देर रात ही खातेगांव के सावरकर मार्ग से आरोपी को गिरफ्त में लेकर और उसकी कार को जब्त कर डबल चौकी पुलिस को सुपुर्द कर दिया।

बता दें कि आचार्य विद्यासागर महाराज के काफिले को ओवरटेक करने वाला चालक अपने रिश्तेदार के घर खातेगांव पहुंचा था, जहां उसके घर के बाहर उसकी कार खड़ी हुई थी। वही रात को गश्ती कर रहे एसआई केआर राठौर और उनकी टीम ने कार को बाहर खड़ा देखा और उसके नंबर का मिलान किया तो वही कार निकली, जो आचार्य श्री के करीब से निकली थी, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कार को जब्त कर लिया और आरोपी को थाने ले आई।

आचार्य विद्यासागर महाराज के साथ अभद्र व्यवहार और ओवरटेक करने वाला कार चालक गिरफ्तार, जमानत पर हुआ बरी