इंदौर, आकाश धोलपुरे। शहर में सुपर स्पेशयलिटी सेंटर के लोकार्पण सहित अन्य कार्यक्रमो में शिरकत करने आये मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने इंदौर में कहा कि जिले के बड़े अधिकारियों से लेकर चिकित्सको और जनप्रतिनिधियों ने कोरोना के खिलाफ जो एकजुटता दिखाई वो सराहनीय है। साथ ही बीजेपी के वरिष्ठ नेता की शिकायत के बात पर भी उन्होंने कहा निजी अस्पतालो कि मनमानी पर रोक लगाने के लिए सख्त कदम उठाए जाएंगे।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के संभागायुक्त, कलेक्टर, डीआईजी, चिकित्सको से लेकर जन प्रतिनिधियों की सराहना की और कहा सभी ने एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ी। मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि आज 20 हजार से ज्यादा टेस्टिंग हो रही है, वही उन्होंने कोरोना को अजीब बीमारी बताते हुए कहा कि ये बीमारी अपनो को भी दूर कर देती है और मैं भी इसका भुगत भोगी हूँ।

उन्होंने कहा कि मैं जब अस्पताल में 12 दिन भर्ती रहा तब मैंने बाथरूम से लेकर रूम की सफाई तक की। इसके साथ ही सीएम ने कहा कि इंदौर ने कोरोना की जंग में कई सफलताएं हांसिल की। आज नए हॉस्पिटल के शुभारंभ के साथ बहुत बड़ी कामयाबी मिली है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा कि निजी हॉस्पिटलों को लूट की अनुमति कतई नहीं दी जाएगी। उन्होंने अफसरों को मंच से ही निर्देश दिए कि जनता का इलाज बेहतर हो लेकिन अवैध वसूली न होने दे। मुख्यमंत्री ने कहा निजी अस्पतालों ने मदद की उसके लिए धन्यवाद मगर उन्हें लूटने की इजाजत नही है और अब अधिकारी बैठक कर बीमारियों के इलाज के संबंध में रेट तय करे।

इसके पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल पहुंचे। जहां उन्होंने फीता काट कर किया सुपर स्पेशलिटी शुभारंभ किया। इस अवसर पर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिवकैलाश विजयवर्गीय, जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, इंदौर सांसद शंकर लालवानी, मंत्री उषा ठाकुर सहित बीजेपी के अन्य नेता भी मौजूद थे।