जिला अस्पताल का कलेक्टर ने किया आकस्मिक निरीक्षण, दिए जरूरी दिशा-निर्देश

कलेक्टर ने जिला अस्पताल वृद्धजनवार्ड में मरीजों के लिए की गई व्यवस्थाओं का अवलोकन किया और आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही इस वार्ड में खिड़की की पुरानी जाली के स्थान पर नई जाली लगाने तथा अग्निशामक यंत्र का कलर करने  के निर्देश दिए।

झाबुआ, विजय शर्मा। शहर में आज कलेक्टर रोहित सिंह ने शासकीय जिला चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण किया। सिंह ने चिकित्सालय परिसर में पार्किंग स्थल का अवलोकन किया। इसके पश्चात फीवर क्लीनिक, जिला कोविड कमाण्ड एवं नियंत्रण केन्द्र का अवलोकन किया।  सिंह ने वृद्धजनवार्ड में मरीजों के लिए की गई व्यवस्थाओं का अवलोकन किया और आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही इस वार्ड में खिड़की की पुरानी जाली के स्थान पर नई जाली लगाने तथा अग्निशामक यंत्र का कलर करने  के निर्देश दिए।

कलेक्टर सिंह ने आकस्मिक चिकित्सा कक्ष, पुरूष मेडिकल कक्ष, फिजियोथेरेपी यूनिट, पैथालोजी विभाग, बायोकैमेस्ट्री कक्ष, का अवलोकन किया और बरामदें में जाली लगाने के निर्देश दिए।  सिंह ने कोविड-19 के लिए स्थापित आई.सी.यू. वार्ड का अवलोकन किया। आई.सी.यू. वार्ड का निमार्ण कार्य पूर्व में दिए गए निर्देशों के अनुरूप पूर्ण हो गया है। सिंह ने सर्जीकल वार्ड तथा अतिरिक्त वार्ड का निरीक्षण किया और अतिरिक्त वार्ड का भी सुधार करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने भ्रमण के दौरान प्राईवेट कक्षों को भी देखा और इन कक्षों में रंगाई-पुताई कराने तथा विद्युत की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

इसके बाद  सिंह ने प्लस्टर रूम पहुंचे और वहां की व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए। उन्होने एनआरसी का अवलोकन किया और एनआरसी में भर्ती बच्चों तथा माताओं को दिए जाने वाले चाय, नाश्ता, भोजन के संबंध में आवश्यक जानकारी प्राप्त की और मैनू अनुसार भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए ताकि बच्चों को कुपोषण से मुक्त किया जा सकें। बच्चों के साथ-साथ माताओं का भी भोजन की  उपलब्धता में विशेष ध्यान रखने तथा मैन्यू की सूची लगाई जाने के निर्देश दिए। उन्होने वजन मापने की मशीन का भी अवलोकन किया और आवश्यक निर्देश दिए।

कलेक्टर  सिंह ने पूर्व में दिए गए निर्देशों के क्रियान्वयन की स्थिति का जायजा लिया और जीर्णोद्धार का कार्य संतोष जनक नहीं पाए जाने पर ठैकेदार को नोटिस देने के निर्देश दिए। साथ ही ठैकेदार को जिला चिकित्सालय का जीर्णोद्धार का कार्य तेजी से पूर्ण कराने के निर्देश दिए। सिंह ने जिले के ग्रामीण क्षेत्र में स्थापित आरोग्य केन्द्रों में उपलब्ध दवाईयों की सूची लगाने के निर्देश दिए। कलेक्टर  सिंह इसके पूर्व बाल सम्प्रेषण गृह का आकस्मिक निरीक्षण किया और बाल सम्प्रेषण भवन की मरम्मत कराने तथा रंगाई-पुताई शीघ्र कराने के निर्देश दिए।

भ्रमण के दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सिद्धार्थ जैन, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जयपाल सिंह ठाकुर, सिविल सर्जन डॉ. बी.एस.बघेल, नायब तहसीलदार  हर्षल बोहरानी तथा जिला चिकित्सालय के अन्य चिकित्सक भी साथ थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here