कांग्रेस नेता का अनोखा प्रदर्शन,दुकान को बनाया म्यूजिकल शौचालय, खुद ही किया उदघाटन

पिछले 3 दिनों से लगातार नगर पालिका के शौचालय से मल मूत्र का पानी रिस कर नीचे से दुकानों के सामने एवं छतों से बह रहा है। परेशान होकर अंततः कापरे को इस प्रकार के प्रदर्शन के लिए बाध्य होना पड़ा।

होशंगाबाद/इटारसी,राहुल अग्रवाल। अपने विवादित और अजीबो गरीब प्रदर्शनों के लिए पहचाने जाने वाले जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व महामंत्री अमित कापरे ने नगरपालिका परिसर में फैली गंदगी को लेकर आज एक और अनूठा प्रदर्शन कर डाला। नगर पालिका परिसर में फैली गंदगी एवं नगर पालिका के शौचालय की सीवरेज लाइन को लेकर सालों से लगातार आवेदन और निवेदन कर रहे कापरे द्वारा आज अपनी ही दुकान को नगर पालिका द्वार विकसित पेशाब घर की संज्ञा दी गई। प्रदर्शन के दौरान कापरे ने अपनी दुकान के सामने बैनर लगा दिया जिस पर लिखा था नगर पालिका द्वारा विकसित फ्री वाईफाई युक्त संगीतमय पेशाब घर।

गंदगी और बदबू से परेशान यहां कापरे ने खुद की दुकान को नगर पालिका के कर्मचारियों के लिए पेशाबघर घोषित कर दिया। इस सांकेतिक प्रदर्शन में उन्होंने बाकायदा इस शौचालय का शिलान्यास किया, जिसमें परिसर के सभी दुकानदार शामिल हुए। वही एक बैनर पर उन्होंने न.पा कर्मियों को आमंत्रित करते हुए लिखा कि आइए शौच करते हुए मनपसंद फिल्मों एवं गीतों का आनंद लीजिए । ज्ञात हो कि नगर पालिका परिषद के नीचे स्थित कॉम्प्लेक्स में करीब 20 दुकानदार अपना व्यवसाय संचालित करते हैं।

जरा सी बारिश होते ही वर्षों से इस परिसर में लबालब पानी भर जाता है। जिससे ओवरफ्लो हुई नालियों की गंदगी पूरे परिसर में आकर जम जाती है। वहीं अतिवृष्टि के कारण विगत 3 वर्षों से लगातार इस क्षेत्र में दुकानदारों की दुकान में आरपार बारिश का पानी घुस रहा है।

कापरे ने बताया कि उनकी दुकान के ठीक ऊपर नगर पालिका परिषद का शौचालय है जिसकी पाइपलाइन वर्षों से फूटी हुई है। इस संदर्भ में ट्रांसफर हो चुके तीनों मुख्य नगर पालिका अधिकारियों सहित वर्तमान सीएमओ को लिखित आवेदन के माध्यम से निवेदन किया जा चुका है। साथ ही स्वच्छता एप पर भी करीब आधा दर्जन बार कापरे द्वारा शिकायत की गई।

वहीं कई बार सोशल मीडिया के माध्यम से फेसबुक और व्हाट्सएप ग्रुप पर लगातार सुधि जनों द्वारा इस परिसर में फैली अव्यवस्थाओं की ओर जिम्मेदारों का ध्यान आकर्षित करने की कोशिश की गई लेकिन आज दिनांक तक इस ओर किसी का भी ध्यान नहीं गया। पिछले 3 दिनों से लगातार नगर पालिका के शौचालय से मल मूत्र का पानी रिस कर नीचे से दुकानों के सामने एवं छतों से बह रहा है। परेशान होकर अंततः कापरे को इस प्रकार के प्रदर्शन के लिए बाध्य होना पड़ा।

ज्ञात हो कि नगर पालिका के पीछे गर्ल्स स्कूल की सड़क पर एक सार्वजनिक शौचालय का निर्माण श्री अक्षत बुंदेला मुख्य नगरपालिका अधिकारी के कार्यकाल में किया गया था जिस पर नगर पालिका परिसर के व्यापारियों द्वारा आपत्ति ली गई थी कि शौचालय को कुछ दूर बनाया जाए क्योंकि नियमित साफ-सफाई के अभाव में इस सार्वजनिक शौचालय से संपूर्ण क्षेत्र में बदबू होगी और हुआ भी यही।

बीते दिनों नगर पालिका इटारसी उपयंत्री द्वारा शहर के शौचालयों का निरीक्षण किया गया, जिसमें अधिकतर सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति बद से बदतर थी। जहां  प्रधानमंत्री द्वारा एक ओर संपूर्ण देश में स्वच्छता कार्यक्रम स्वच्छ भारत अभियान के माध्यम से चलाए जा रहे हैं, वहीं इस शहर की सबसे जिम्मेदार इकाई ही अपने मुँह पर कालिख पोते बैठी है। कापरे ने कहा कि ऐसी नगर पालिका जो खुद अपना शौचालय वर्षों से नहीं सुधार पा रही , उससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है की वह शहर की साफ-सफाई के लिए किस हद तक गंभीर होगी।