सिंधिया के ट्विटर स्टेटस बदलने के बाद चर्चा में कांग्रेस विधायक का पोस्ट

5825

भोपाल। कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्वीटर स्टेटस पर मचे बवाल के बीच जहां कमलनाथ के मंत्री जवाब देने से बच रहे है और इसे सिंधिया का फैसला बता रहे है, वही दूसरी तरफ शिवपुरी के पिछोर से कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक के पी सिंह ने फेसबुक पर तंज कसा है। केपी ने शायराने अंदाज में कहा है कि ‘जहां कदर ना हो वहां रहना नही चाहिए’। हालांकि केपी ने सीधे तौर पर किसी का नाम नही लिखा है लेकिन इसे सिंधिया के घटनाक्रम से जोड़कर देखा जा रहा है। उनके इस पोस्ट के कई मायने निकाले जा रहे हैं| 

दरअसल, शिवपुरी जिले की पिछोर विधानसभा सीट से कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक केपी सिंह ने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर एक शेर लिखा है , जिसमें कदर ना होने पर उस जगह पर ना रहने की सलाह दी है फिर वह घर हो या दिल। के. पी. सिंह – कक्काजू ने अपनी प्रोफाइल अपडेट करते हुए लिखा है कि ”जहाँ कदर न हो अपनी वहाँ रहना फ़िज़ूल है,चाहे किसी का घर हो या चाहे किसी का दिल”। केपी के इस शायराने तंज को सिंधिया से जोड़कर देखा जा रहा है। केपी दिग्विजय के कट्टर समर्थक माने जाते है। पहले भी कई बार वे इशारों ही इशारों में सिंधिया पर तंस कर चुके है। केपी सिंह कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक हैं, लेकिन मंत्रमंडल में जगह न मिल पाने से नाराज चल रहे हैं| इसको लेकर कई मौके पर उनका दर्द झलक चुका है| 

जब केपी ने कहा था राहुल और सिंधिया जैसे लोग चुनाव हार गए

यह पहला मौका नही है जब केपी ने सिंधिया पर अटैक किया हो, इसके पहले भी लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने बयान दिया था, जिसको लेकर जमकर सियासत गर्माई थी। केपी ने कहा था कि चुनाव में 10% सीटें आने पर विपक्ष का नेता बनता है। जब 10% ही कांग्रेस के लोग नहीं जीते तो विपक्ष का नेता भी कोई नहीं बन पाया। पार्टी के अध्यक्ष थे राहुल गांधी वो भी चुनाव हार गए। ऐसे बहुत सारे नेता चुनाव हार गए जिनके बारे में कहते थे कि ये चुनाव नहीं हारेंगे। उसमें हमारे सिंधियाजी भी थे, वो भी चुनाव हार गए। उससे यह संदेश गया कि अब पब्लिक कांग्रेस के साथ नहीं है| 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here