Cyber Crime – मार्केट में चल रहा पैसे एंठने का नया तरीका, सावधानी ही बचाव

साइब क्राइम (cyber crime) को अंजाम देने वाले स्‍क्रीनशॉट ब्‍लैकमेलिंग(screenshot blackmailing) में हैकर(hacker) पैसे एंठने के लिए आपत्तिजनक स्‍क्रीनशॉट्स शेयर करने की धमकी देता है और खास बात ये है कि जो स्‍क्रीनशॉट्स हैकर  डराने के लिए यूज करते है, उसमें यूजर्स ने मैसेज ही नहीं किए होते है, बल्कि हैकर ने उसके नाम और अकांउट से मैसेज किए होते है।

cyber crime increasing

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। जैसे जैसे दुनिया में इंटरनेट(internet) का चलन बढ़ता जा रहा है, वैसे वैस इंटरनेट के जरिए साइबर फ्राड (cyber fraud) में  भी इजाफा हो रहा है। सोशल मीडिया(social media) का इस्तमाल करने वाले यूजर्स(users) के लिए हैरान करने वाली खबर है। हम सब जानते है कि देश में साइबर क्राइम(cyber crime) कितना बढ़ गया है। आए दिन साइबर क्राइम(cyber crime) से रिलेटड खबरे सामने आती है। वहीं हम आपको बता दें कि सोशल मीडिया(social media) पर होने वाले फ्रॉड(fraud) में एक और नया तरीका जुड गया है।

अभी तक सोशल मीडिया हैक (social media hack) कर के साइबर फ्रॉड(cyber fraud) किए जाते थे। वहीं  अब नए तरीके के तहत स्‍क्रीनशॉट ब्‍लैकमेलिंग (screenshot blackmailing) का चलन चल रहा है। फ्रॉड(fraud) से बचने के लिए हैकर(hacker) यूजर्स(user) से मुंह मांगी कीमत मांगते है। स्‍क्रीनशॉट ब्‍लैकमेलिंग(screenshot blackmailing) में हैकर(hacker) पैसे एंठने के लिए आपत्तिजनक स्‍क्रीनशॉट्स शेयर करने की धमकी देता है और खास बात ये है कि जो स्‍क्रीनशॉट्स हैकर  डराने के लिए यूज करते है, उसमें यूजर्स ने मैसेज ही नहीं किए होते है, बल्कि हैकर ने उसके नाम और अकांउट से मैसेज किए होते है। ऐसे मामलों में हैकर को पकड़ना मुश्किल हो जाता है।

हैकिंग और साइबर इश्‍यूज पर दिल्ली पुलिस के साथ काम कर रहे साइबर एक्सपर्ट की माने तो साइबर क्राइम आज कल आग की तरह फैल रहे है।  साइबर क्राइम में अजब-गजब मामले सामने आ रहे है। साइबर क्राइम हैकर खासतौर पर उन लोगों को निशाना बनाते है जो अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स की डिटेल्स पब्लिक रखते है। बता दें कि आज के टाइम में अपनी दोस्तों की सूचि को लॉक कर के रखना बहुत जरुरी है। साथ ही फोटोज को ओपन रखना भी मुसीबत खड़ा कर सकता है। दरअसल, इन गतिविधियों को अंजाम देने वाले साइबर फ्रॉड रिमोट एरिया में बैठकर अपराध करते है, जिन्हें पकड़ना काफी मुश्किल हो जाता है।

बता दें कि स्‍क्रीनशॉट ब्‍लैकमेलिंग में सबसे पहले हैकर पहले तो यूजर का असली अकाउंट खंगालते है, जैसे कि आपके लिखने का तरीका और आपके पोस्ट से अपके पूरे व्यवहार को एनालिसिस करते है, फिर टारगेट यूजर की फोटो के साथ एक नई आईडी बनाते है और उससे चैट करते है। आपके जेंडर के हिसाब से ये फेक आईडी बनाते है और फिर उससे चैट करते है और वो चैट अक्सर आपत्तिजनक होती है।

फिर इस चैट का स्क्रीनशॉट खींचते है और उसे आपके असली अकाउंट के मैसेंजर में भेजते हैं, फिर आपको संपर्क करने के लिए कहते हैं। वहीं जब आप इसको लेकर मैसेंजर पर कॉल करते हैं तो ये अपनी मांग आपके सामने रखते हैं।साथ ही मैसेंजर पर ही अपना अकाउंट नंबर देकर पैसे डालने की मांग करते है। पैसे नहीं देने पर स्क्रीनशॉट वायरल करने को लेकर धमकाते है।

आगे साइबर एक्सपर्ट बताते है कि अगर आपको किसी का वायरल स्क्रीनशॉट दिखे तो इसका मतलब ये नहीं है कि चैट उसी शख्स ने की है। सतर्क करते हुए साइबर एक्सपर्ट बताते है कि साइबर क्राइम से बचने के लिए सोशल मीडिय़ा पर अपनी पर्सनल जानकारी और पोस्ट पब्लिकली शेयर ना करे। साथ ही उन लोगों को आपना दोस्त ना बनाएं जिन्हें आप जानते नहीं है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here