असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 साल में निधन, लंबे समय से चल रहे थे बीमार

पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई (Tarun Gogoi) को अगस्त में कोरोना (Corona) ने जकड़ लिया था, लेकिन उन्होंने उसे मात दे दी थी, पर वह पोस्ट कोरोना कॉम्प्लिकेशन (post coorna complication) से जूझ रहे थे। पूर्व मुख्यमंत्री ने आज शाम 5:34 पर गुवाहाटी के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (Gwahati medical college hospital) में अपनी आखिरी सांस ली।

असम,डेस्क रिपोर्ट।  कांग्रेस के दिग्गज नेता और असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई (Former CM Of Assam Tarun Gogoi) की तबीयत खराब हो (Health deterioration) जाने के चलते सोमवार को उनका निधन (demise) हो गया। तरुण गोगोई (Tarun Gogoi) का इलाज करने वाले डॉक्टरों ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री की हालत बेहद नाजुक चल रही थी।

पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई को अगस्त में कोरोना (Corona) ने जकड़ लिया था, लेकिन उन्होंने उसे मात दे दी थी, पर वह पोस्ट कोरोना कॉम्प्लिकेशन (post coorna complication) से जूझ रहे थे। पूर्व मुख्यमंत्री ने आज शाम 5:34 पर गुवाहाटी के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (Gwahatis medical college hospital) में अपनी आखिरी सांस ली। बता दें कि तरुण गोगोई असम के तीन बार मुख्यमंत्री (CM for 3 Years) रहे हैं।

तरुण गोगोई की मौत की खबर लगते ही सभी राजनीतिक पार्टियों में शोक की लहर दौड़ पड़ी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर तरुण गोगोई की मौत पर दुख जताया है ‌। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर लिखा कि तरुण गोगोई जी एक बेहद लोकप्रिय नेता और वयोवृद्ध प्रशासक थे, जिन्हें असम के साथ-साथ केंद्र में भी राजनीति का कई सालों का अनुभव था। उनके निधन से बहुत दुख पहुंचा है। दुख की इस घड़ी में मेरी भावनाएं उनके परिवार और समर्थकों के साथ है। ओम शांति। प्रधानमंत्री के साथ ही देश के दिग्गज नेताओं ने तरुण गोगोई की मौत पर दुख जताते हुए ट्वीट किया है।

 

बता दें कि 86 साल की उम्र पार कर चुके दिग्गज नेता की देखभाल में 9 डॉक्टरों की टीम लगी हुई थी। उनकी हालत काफी नाजुक चल रही थी और वह वेंटिलेटर पर थे। वही तरुण गोगोई के अंगों ने भी काम करना बंद कर दिया था, उनका दिमाग कुछ अलर्ट दे रहा था जिसके चलते उनकी आंखें चल रही थी साथी पेसमेकर के कारण उनका दिल भी काम कर रहा था । वही तरुण गोगोई का रविवार को करीब 6 घंटे तक डायलिसिस हुआ था पर दोबारा वह विषाक्त चीजों से भर गया था। विषाक्त चीजों को बाहर निकालने के लिए दूसरा डायलिसिस करना जरूरी था परंतु उनकी ऐसी हालत नहीं थी कि वह दोबारा डायलिसिस झेल पाए।

असम के पूर्व मुख्यमंत्री को 2 नवंबर जीएमसीएच में भर्ती कराया गया था,  जिसके बाद शनिवार को उनकी हालत बिगड़ गई थी, जिसके चलते उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।  वही असम के सीएम  सर्बानंद सोनोवाल  ने ट्विटर के जरिए जानकारी दी कि उन्होंने अपने सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं और वह गोगोई और उनके परिवार के पास रहने के लिए गुवाहाटी लौट रहे हैं। सोनोवाल में जानकारी देते हुए लिखा कि सीएम की हालत काफी नाजुक है। साथ ही वे लिखते हैं कि तरुण गोगोई मेरे लिए हमेशा पिता के समान रहे हैं। मैं लाखों लोगों के साथ उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।