बाजरा की खरीदी न होने पर किसानों ने कलेक्टर के बंगले का किया घेराव

मुरैना, संजय दीक्षित। बाजरा की समर्थन मूल्य की खरीदी ना होने के कारण आज किसान सैकड़ों की संख्या में कलेक्टर के बंगले पर शिकायत करने पहुँचे। किसानों का कहना था कि करीब 5 दिन से गल्ला मंडी में बाजरा खरीदने के लिए ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर खड़े थे लेकिन किसानों का बाजरा न खरीदते हुए व्यवसायियों का बाजरा खरीदा जा रहा है। जबकि शासन के द्वारा किसानों के मोबाइल पर एसएमएस के जरिए सूचना भी दी गई थी। जिसे लेकर किसान वेयर हाउस और गल्ला मंडी के पास करीब 5 दिन से बाजरा से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर खड़े हुए हैं ,लेकिन प्रशासन ने कोई भी सुनवाई नहीं की है बरसात में बाजरा भी भीग गया हैं।दीपावली का त्यौहार मनाने के लिए घर भी नही पहुंचे है।

5 दिन से रोड पर बैठकर पूरी रात ठंड में बिताई हैं, लेकिन प्रशासन के कानों तक गरीब किसानों की आवाज नही पहुँच रही हैं। जिसको लेकर आज कलेक्टर के बंगले पर एकत्रित हुए है। गल्ला मंडी में बाजरा बेचने के लिए आए तो अधिकारियों का कहना है कि संख्या अधिक होने पर शहर से दूर करीब 5 किलोमीटर करुआ   गांव में जाकर ही बाजरा की तुलाई की जाएगी। उसके बाद 5 किलोमीटर दूर करूंगा गांव में तुलाई के लिए भेजा जा रहा है।इसलिए कलेक्टर के बंगले का घेराव किया है।

वहीं इस पूरे मामले में कलेक्टर अनुराग वर्मा ने बताया कि जिले के किसानों से कहा है कि वे बाजरा विक्रय करने के लिये चिन्तित न हों। किसान का एक-एक दाना बाजारे का सोसायटी क्रय करेंगी। किसान की मांग के अनुसार अंबाह, पोरसा में 6 खरीदी केन्द्र और बढ़ा दिये गये है। जिन्होंने अपना कार्य आज से प्रारंभ कर दिया है। इनके अलावा जिले में 49 खरीदी केन्द्र पहले से ही संचालित है। सभी केन्द्रों पर बारदाना सहित अन्य सुविधायें उपलब्ध कराने के निर्देश अधिकारियों दिये गये है।किसानों की खरीदी के लिए अतिरिक्त 15 दिवस और बढ़ा दिये गये है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here