स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभूराम चौधरी ने शहडोल जिला चिकित्सालय का किया निरीक्षण, कहा- डॉक्टरों से नहीं हुई कोई लापरवाही

शहडोल, अखिलेश मिश्रा। शहड़ोल जिला चिकित्सालय में 13 बच्चों की मौत के बाद प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभूराम चौधरी शहडोल दौरे पर पहुंचे और सुबह कुशाभाऊ ठाकरे जिला चिकित्सालय के पीआईसीयू, एसएनसीयू सहित विभिन्न वार्डों का निरीक्षण किया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री के साथ जिले के तमाम नेताओं के साथ तीनों विधानसभाओं के विधायकों के साथ सांसद शहड़ोल भी मौजूद रही।

दरअसल, शहडोल जिला चिकित्सालय में बीते 26 नवंबर से सोमवार तक पीआईसीयू और एसएनसीयू वार्डों में 18 बच्चों की मौत हुई है, लेकिन इन आंकड़ों का सच स्वास्थ्य मंत्री के दौरे के एक दिन पहले ही सामनें आया। बीते 12 दिनों की बात करें एक-एक करके लगातार यहां बच्चों की मौत होती रही है। बता अगर शहड़ोल जिले की करें तो यहां की तीनों विधानसभाओं ब्यौहारी, जैतपुर और जयसिंहनगर के साथ ही शहड़ोल लोकसभा भी भाजपा के कब्जे में है, लेकिन स्वास्थ्य मंत्री के साथ नजर आये ये सभी नेता अब तक नादारद थे।

हलांकि जिला चिकित्सालय निकलनें के पहले स्वास्थ्य मंत्री मीडिया‌‌ के सवालों से बचते नजर आये। लेकिन निरीक्षण के बाद स्वास्थ्य मंत्री नें मीडिया से चर्चा करते हुये कहा कि हमारे डॉक्टरों से किसी भी तरह की लापरवाही नहीं हुई है, लेकिन यदि कोई दोषी हुआ तो कार्रवाई की जायेगी। इतना ही नहीं पूरे प्रदेश में 20 बेड़ के एसएनसीयू वार्ड बनानें की तैयारी की‌ जा रही है। कुपोषण के मामले पर स्वास्थ्य मंत्री ने ज्यादा कुछ‌ ना कहते हुये कहा कि हमारी एनएचएम और मैदानी टीम लगातार इसके रोकथाम में लगी है।