Kidnap : प्यार के पागलपन में युवक ने नाबालिग का किया अपहरण, सीएसपी ने प्रेमिका बनकर की बात, गिरफ्तार

एसपी पश्चिम महेशचंद्र जैन ने पूरी घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को नकद इनाम दिया। वही सीएसपी सौम्या जैन के आइडिये की तारीफ भी की।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर पुलिस (Indore Police) ने बच्चे के अपहरण (Kidnap) के मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी युवक को खरगोन के जंगल (forest) से धरदबोचा है। आरोपी ने बच्चे की मौसी की बेटी से प्रेम संबंध (Love Relation) को लेकर अपहरण किया था। घटना इंदौर के चन्दन नगर इलाके की है, जहां प्रेम (Love) की सनक ने एक युवक को इतना पागल (Crazy) कर दिया कि उसने जिस महिला से प्यार किया था वो उसे छोड़कर चली गई तो महिला की मौसी के बेटे का अपहरण (Kidnap) कर लिया। बाद में पुलिस की चालाकी और तकनीकी मदद के चलते अपह्रत हुए बच्चे को सकुशल आरोपी के चंगुल से छुड़वा लिया है।

पुलिस की माने तो बच्चे की महिला ने गुरूवार को चंदनगर  थाने  पहुंचकर बच्चे की गुमशुदगी के लिए रिपोर्ट दर्ज करवाने का प्रयास किया, लेकिन थाना प्रभारी ने जब उससे कुछ समय इंतज़ार करने को कहा तो पता चला कि घटना चंदन नगर नही बल्कि गांधी नगर थाना क्षेत्र की है। लिहाजा पुलिस ने मामले में महिला को तुरंत गांधी नगर थाना पहुंचाया।

इस दौरान आरोपी का फोन अपहरण किये गए नाबालिग की माँ के पास पहुंचा और उसने शर्त रखी कि जब तक महिला की बहन की बेटी उसके पास नहीं आ जाती तब तक वो बच्चे को नही छोड़ेगा। इस मामले की जानकारी पुलिस को मिली तो तत्काल सीएसपी सौम्या जैन सक्रिय हुई और उन्होंने मासूम को कुछ न हो इसके लिए दीपक नामक आरोपी से उसकी प्रेमिका बनकर बात की।

इधर, पुलिस ने आरोपी दीपक के मोबाइल को ट्रेस किया तो उसकी लोकेशन खरगोन की निकली और फिर मौके पर पहुंची पुलिस टीम के शामिल महिला आरक्षक ने बच्चे की मौसी की बनकर बात की और आरोपी से मिलने पहुंची। इसी दौरान पुलिस ने आरोपी को धरदबोचा और बच्चे को सकुशल बरामद किया। एसपी पश्चिम महेशचंद्र जैन ने पूरी घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को नकद इनाम दिया।

वही सीएसपी सौम्या जैन के आइडिये की तारीफ भी की। बता दे कि आरोपी का जिस महिला से संबंध था वो अपने पति को छोड़ चुकी है और वो कुछ दिन तक आरोपी के साथ भी रही है, लेकिन आरोपी की हरकतों के चलते उसने आरोपी को छोड़ दिया था। जिसके बाद आरोपी प्रेम में पागल हुआ और उसने मौसेरे भाई का अपहरण कर लिया।